जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: महामद्म नंद कम्युनिटी एजूकेटेड एसोसिएशन के सम्मेलन में अति पिछड़ा वर्ग ने सम्मान एवं हक के लिए आवाज बुलंद की। आबादी के आधार पर आरक्षण की मांग करते हुए समाज के नेताओं ने कहा, अगर सरकार ने उनकी बात को नहीं सुना तो फिर चुनाव में सबक सिखाया जाएगा। समाज के हित की बात न करने वालों को समाज सरकार से उखाड़ फेंकने का काम करेगा।

शनिवार को पालीवाल हॉल में हुए अति पिछड़ी जातियों के प्रतिनिधियों के सम्मेलन में राज्यसभा सांसद एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव पीएल पूनिया ने कहा कि भारत में रहने वाली 42 फीसद अति पिछड़ी जातियों को मुख्य धारा में लाने की जरूरत है। आबादी के हिसाब से ही आरक्षण होना चाहिए, ताकि इस समाज को उसका अधिकार मिल सके। हमें सिर्फ आरक्षण ही नहीं चाहिए, बल्कि राजनैतिक हिस्सेदारी भी आबादी के हिसाब से चाहिए। उन्होंने कहा कांग्रेस पार्टी सदैव से पिछड़े वर्ग के लिए आवाज उठाती रही है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी पिछड़ा विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद ताम्रध्वज साहू ने कहा कि अति पिछड़े वर्ग को आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी की पैरवी की जा रही है। अगर यह नहीं मिलती है तो फिर हमारा समाज सरकारों को उखाड़ फेंकेगा। पूर्व सांसद एवं विधान परिषद सदस्य हरिभाऊ राठौर ने कहाकि अति पिछड़े वर्ग के अधिकारों पर कुठाराघात हुआ तो समाज सरकारों को इसका जवाब देगा।

महासम्मेलन को हरिभाऊ राठौर, प्रो. प्रकाश सोनबड़े, छोटेलाल चौरसिया, हरद्वारीलाल नंद, बृजेश कुमार झा, ओमप्रकाश ठाकुर, राजेश कुमार नागर, आरके तोमर, त्रिलोकचंद्र श्रीवास, निर्मला नंदा ने संबोधित किया। अध्यक्षता डॉ. रमेश चंद्र जर्राह एवं संचालन रघुराज सविता ने किया। व्यवस्थाएं डॉ. बृजमोहन सविता, कैप्टन गिरजाशंकर, सियाराम नंद, रोहित दयाल नंदवंशी उर्फ बंटी ठाकुर ने संभाली।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप