फीरोजाबाद,जागरण संवाददाता। लाइनपार क्षेत्र के गांव गुंदाऊ (कुंवर बहादुर की ठार) में मंगलवार रात पत्नी का गला काटकर फरार हुए पुष्पेंद्र यादव का चौबीस घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं लगा है। बताया गया है कि पहली पत्नी की मौत के बाद भी उस पर आरोप लगे थे। पहली पत्नी की मौत के दो साल बाद ही उसने दूसरी शादी कर ली थी। पंद्रह साल बाद अवैध संबंधों के शक में उसकी हत्या कर दी।

गुंदाऊ निवासी पुष्पेंद्र उर्फ पप्पू यादव ने झगड़े के बाद पत्नी ममता की गला काटकर हत्या के बाद कई घंटे तक शव को छुपाए रखा। रात गहराने के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए निकला था, तभी पुलिस को खबर लग गई। जानकारी के मुताबिक पुष्पेंद्र उर्फ पप्पू की पहली शादी करीब 17 साल पहले नसीरपुर क्षेत्र के गांव बाकलपुर में हुई थी। गांव की एक महिला के अनुसार, पहली पत्नी से उसका एक लड़का है। पप्पू की पहली पत्नी की मौत हो गई, उसमें भी उस पर आरोप लगे, मगर पंचायत में मामला निपट गया। इसके दो साल बाद जसराना के नगला मान सिंह निवासी ममता उर्फ मलूकी पुत्री स्व. रविकांत यादव से शादी की थी। दूसरी शादी से पप्पू के दो लड़कियां समेत तीन बच्चे हैं। मलूकी के भाई वीकेश और बाबा दिनेश यादव ने बताया कि पप्पू और उसके पिता आए दिन अतिरिक्त दहेज की मांग को लेकर मलूकी के साथ मारपीट करते थे। पप्पू शराब का आदी था। दो साल पहले उसके गांव में मायके पक्ष के लोगों ने पंचायत की थी। मायके पक्ष के अनुसार, पंचायत में पप्पू और इसके परिजनों ने माफी मांगी थी, लेकिन मारपीट का सिलसिला जारी रहा। एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने बताया कि अवैध संबंधों के शक में हत्या का मामला सामने आया है। आरोपित फरार है, जिनकी तलाश में दबिशें दी जा रही हैं। - बच्चों के लेने गई थी, शाम को हो गया झगड़ा.

बच्चों को पढ़ाने के लिए मलूकी फीरोजाबाद शहर के जोशियान मुहल्ले में किराए के कमरे में रहती थी। दिन में वह फैक्ट्री में नौकरी भी करती थी। पुष्पेंद्र गांव से आता जाता रहता था। पुष्पेंद्र अपने तीनों बच्चों को चार दिन पहले गांव में ले गया था। मलूकी किराए के कमरे में अकेली रह गई थी। अगले दिन वह बच्चों को लेने गांव गई और वहीं रुक गयी। मंगलवार शाम को झगड़ा हुआ और उसकी हत्या कर दी गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस