मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

सिरसागंज,संवाद सहयोगी: ग्राम उजरई में रविवार को ग्राम प्रधान पुत्र ने अपने परिवार के साथ मिलकर गांव की एक महिला पर जानलेवा हमला किया। पिटाई के बाद उसे रेलवे लाइन पर फेंकने की कोशिश की गई। लेकिन ग्रामीणों ने उसे बचा लिया। पीड़िता ने प्रधान पुत्र पर उसके बच्चे को अगवा करने का भी आरोप लगाया है।

पीड़ित महिला का कहना है कि प्रधान के पुत्र आलोक ने सवा दो साल पहले उससे मंदिर में शादी की थी। इसके बाद उसने एक साल पहले लड़के को जन्म दिया। जिसे कुछ दिन पहले आलोक उठा कर ले गया। महिला ने बताया कि शनिवार को वह टेंपो से उतरकर घर जा रही थी। इस बीच प्रधान के परिवारीजनों ने उसे घेरकर पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद वे उसे पास ही रेलवे लाइन पर जान से मारने के उद्देश्य से ले गए। जानकारी पाकर पुलिस मौके पर आयी और पीड़िता को थाने पर लाई। शनिवार रात उसका डॉक्टरी परीक्षण कराया गया। बाद में उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पीड़िता ने प्रधान पत्नी, बेटी, आलोक, भाई धर्मेंद्र की पत्नी व दो अन्य खिलाफ जानलेवा हमले समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप