जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: जिला अस्पताल में मरीज को जल्दी दिखाने को लेकर एक तीमारदार का पारा चढ़ गया। गेट पर खड़े कर्मचारियों ने तीमारदार को रोका तो वाद-विवाद के बाद मारपीट हो गई। बीच-बचाव को आए चर्म रोग विशेषज्ञ के साथ भी हाथापाई की गई। पुलिस ने आरोपी युवकों को हिरासत में लेकर थाने भिजवा दिया। घटना को लेकर अस्पताल कर्मचारियों में आक्रोश है। एक कर्मचारी ने तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है।

शनिवार सुबह करीब 10.30 बजे पुरानी इमरजेंसी में चर्म रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रामआसरे सुधाकर मरीजों को देख रहे थे। बाहर चैनल पर मरीजों की लंबी लाइन लगी थी। इसी दौरान हाजीपुरा निवासी नूरउद्दीन व सुल्तान अपने परिवार की एक महिला को लेकर अंदर जाने लगे। गेट पर खड़े कर्मचारी आमिर खान के रोकने पर युवकों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। बचाने आए अन्य कर्मचारी शिवेंद्र ¨सह, प्रमोद व प्रेम दर्शन के साथ भी मारपीट की गई। बीच-बचाव को आए डॉ. रामआसरे सुधाकर के साथ भी धक्कामुक्की, हाथापाई कर दी। इसके बाद युवकों ने डॉक्टर की केबिन में घुसकर दवाएं व अन्य उपकरण भी क्षतिग्रस्त कर दिए। इससे आक्रोशित कर्मचारियों ने दोनों युवकों को पकड़ कर पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंचे एचसीपी चरन ¨सह व सिपाही आदेश ने आरोपी युवकों को हिरासत में लेकर थाने भेज दिया। बीचबचाव के दौरान एचसीपी चरन ¨सह के चेहरे पर भी चोट आई है। एसओ लोकेश भाटी एवं चौकी प्रभारी उमर फारुक ने मामले की जानकारी की। घटना को लेकर अस्पताल कर्मचारियों में आक्रोश है। पीड़ित कर्मचारी आमिर ने तहरीर देकर दोनों युवकों पर पिटाई करने, चिकित्सीय उपकरण तोड़ने तथा डॉक्टर से अभद्रता किए जाने के आरोप लगाए हैं। एसओ लोकेश भाटी का कहना है मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

---------

दो घटे तक ठप रही ओपीडी:

दो युवकों द्वारा अस्पताल में डॉक्टर व कर्मियों के साथ हुई मारपीट की घटना से डॉक्टरों में आक्रोश पैदा हो गया। ओपीडी बंद कर सभी लोग सीएमएस कक्ष में पहुंचे और मामले से प्रभारी सीएमएस को अवगत कराया। जिसके चलते दो घंटे तक ओपीडी बंद रही। इस दौरान कई मरीज बिना दवा लिए ही लौट गए।

-----

घटना से फैली दहशत:

मारपीट होते ही लाइन में लगे मरीज और तीमारदारों में अफरा-तफरी मच गई। कुछ ही देर में जहां मरीजों की लंबी लाइन लगी थी, वहां सन्नाटा पसर गया। बाद में डॉक्टर अपने कक्ष में बैठे और फिर मरीजों का चेकअप कर दवाएं दी गईं।

Posted By: Jagran