टूंडला,(फीरोजाबाद): सरकार द्वारा ऋण माफी की घोषणा के बावजूद भी किसानों का उत्पीड़न बंद नहीं हो रहा है। सूची में नाम होने के बावजूद बैंक नोटिस भेज रहे हैं। जिससे किसान परेशान हैं।

तहसील क्षेत्र के गांव ठार वासदेव निवासी हरिविलास पुत्र छोटेलाल छोटे किसान है। सात बीघा जमीन से ही परिवार का भरण पोषण करते हैं। उन्होंने फसल उगाने को नगर की केनरा बैंक शाखा से 50 हजार रुपये का फसली ऋण लिया था। जिसके बाद प्रदेश की भाजपा सरकार ने किसानों के एक लाख रुपये तक के ऋण माफ कर दिए थे। जिला प्रशासन द्वारा जारी की गई ऋण माफी की सूची में भी उनका नाम था, लेकिन चंद रोज पूर्व बैंक ने उन्हें ऋण जमा कराने को नोटिस जारी कर दिया। किसान का कहना है कि नोटिस मिलने के बाद जानकारी करने बैंक पहुंचा तो कर्मचारियों ने ऋण माफ न होने की बात कहते हुए जल्द से जल्द ऋण जमा कराने का फरमान सुना दिया। जिसके चलते किसान परेशान है। पीड़ित ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर ऋण माफ कराने की गुहार लगाई है। (वि)

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस