फीरोजाबाद, जागरण संवाददाता। इन दिनों यातायात माह चल रहा है, पुलिस अफसर स्कूल-कॉलेजों समेत अन्य स्थानों पर कार्यक्रम कर जनता को यातायात के नियमों का पालन करने की नसीहत दे रहे हैं, लेकिन तमाम पुलिस कर्मी खुद फीरोजाबाद की सड़कों पर उनके निर्देशों को हवा में उड़ा रहे हैं। ये वाहन चलाते समय न तो हेलमेट पहनते हैं न ही सीट बेल्ट बांधते हैं।

एसएसपी सचिद्र पटेल का पुलिस महकमे के सभी कर्मचारियों को आदेश है कि वे बिना हेलमेट और सीट बेल्ट बांधे वाहन नहीं चलाएं। विभाग के अफसर यह दावा भी करते हैं कि पुलिस कर्मी यातायात के हर नियम का पालन करते हैं, लेकिन ये दोनों मामले हकीकत बता रहे हैं। खास बात यह कि ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की छोड़िए, यातायात पुलिस के सिपाही इन्हें रोकने की भी हिम्मत नहीं जुटा पाते। - थाने-चौकियों और पुलिस लाइन में बिना हेलमेट लगाने प्रवेश वर्जित-

एसएसपी ने थाने-चौकियों और पुलिस लाइन में बिना हेलमेट लगाए आने वाले फरियादियों का प्रवेश वर्जित कर दिया है। बिना हेलमेट आने वाले फरियादियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई करती है, लेकिन ऐसे मामले में अपने साथियों के खिलाफ कार्रवाई करने की वे जहमत नहीं उठाते।

वर्जन-

कानून की जानकारी रखने वाला कोई भी हो, यदि यातायात के नियमों का पालन नहीं करता मिलेगा तो उससे दोगुना चालान वसूलने की कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी सर का भी आदेश है कि सभी पुलिस कर्मी बाइक चलाते समय हेलमेट जरूर पहनें, इसलिए इस आदेश का पालन जरूरी है।

नीरज मिश्रा, इंस्पेक्टर ट्रैफिक ²श्य एक: गुरुवार दोपहर एक बजे का नजारा। उत्तर थाने में तैनात एक सब इंस्पेक्टर अपनी बाइक पर साथी कांस्टेबिल को बिठाकर गांधी पार्क के सामने से गुजर रहे थे। इन दोनों में से हेलमेट किसी ने नहीं पहन रखा था। ²श्य दो: दोपहर तीन बजे छिगामल बाग क्षेत्र में बाइक पर एक कांस्टेबिल और दारोगा कहीं जा रहे थे। ये दोनों भी हेलमेट विहीन थे। इसी बीच एक राहगीर ने इन दोनों से हेलमेट नहीं पहनने के बारे में चुटकी ली, लेकिन ये दोनों बिना जवाब दिए चले गए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप