संवाद सूत्र, औंग/बकेवर : दो अलग-अलग स्थानों में महिला समेत दो लोगों ने फांसी लगाकर लगाकर जान दे दी, जिससे स्वजनों में कोहराम मचा रहा।

औंग थाने के खरौली गांव निवासी महिला ने सोमवार की रात संदिग्ध हालात में कमरे के अंदर पंखे के हुक में दुपट्टे से फंासी लगा ली। सुबह पति की नींद खुली तो पत्नी को फांसी के फंदे में झूलते देख चीख पड़ा। पुलिस ने शव को फांसी के फंदे से उतारा। कार्यवाहक थाना प्रभारी बीडी गोस्वामी ने बताया कि स्वजनों से पूछताछ में स्पष्ट हुआ है कि महिला डेढ़ वर्ष से मानसिक रूप से बीमार चल रही थी, उसी वजह से उसने जान दे दी। बकेवर थाने के सरांय बकेवर निवासी 22 वर्षीय ज्ञान प्रकाश गुप्ता ने सोमवार की रात कमरे के अंदर दरवाजा बंद कर छत में फंदे में झूल गया। सुबह कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो मां फूलमती ने खिड़की से पुत्र को फांसी पर लटकते हुए देखा। इस पर चीख पड़ी। खिड़की तोड़कर दरवाजा खोला गया। मां ने बताया छह बेटियों के बीच अकेला पुत्र था। बहन कीर्ती के शादी फरवरी माह में होनी थी। शादी में होने वाले खर्च को लेकर परेशान था। इसी के चलते फांसी लगाकर जान दे दी। थाना प्रभारी विनोद कुमार ने कहा कि युवक ने दिमागी उलझन में जान दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस