जागरण टीम, फतेहपुर : अयोध्या फैसले को लेकर हफ्तों से लेकर की जा रही कवायद आखिर रंग लाई तो अफसरों के चेहरे खिले उठे। सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुनने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली। कहा कि राम मंदिर पर फैसले का सभी वर्ग के लोग तहेदिल से सम्मान करते हैं, देश में ऐसा ही सौहार्द और भाईचारा बना रहे।

कलक्टरगंज के बुजुर्ग चंद्रिका बाबू हों या पनी के नफीस इस चिता में डूबे थे कि पता नहीं शनिवार का दिन कैसा रहे। सुबह नौ बजे के पहले घर में सब्जी का झोला रखते हुए कहा कि जरा टीवी खोलो फैसला सुनना है। कोई घर से बाहर नहीं जाएगा। बहू गायत्री इस बात को लेकर परेशान थी कि बेटा कोचिग गया है उसे बुला लें। पता नहीं शहर का माहौल कैसा हो जाए। इस तरह का अंदेशा ज्यादातर लोगों में रहा। चौक, हरिहरगंज, देवीगंज, आइटीआइ रोड, जीटी रोड, पनी आदि स्थानों पर सन्नाटा पसरा रहा। डीएम, एसपी समेत सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट घूम-घूम कर शहरी माहौल को भांपते रहे।

..............

नहीं रही तल्खी, साथ में चाय की चुस्की

बिदकी कस्बे में अवकाश की जानकारी नहीं होने से कोचिग और स्कूलों में कुछ छात्र-छात्राएं पहुंच गए। स्कूल बंद होने पर इनको लौटना पड़ा। सुबह घरों से लोग सड़क का माहौल देखने निकले। सीडीओ थमीम अंसारिया ए व एसडीएम प्रहलाद सिंह, सीओ अभिषेक तिवारी सुबह 8 बजे ही नगर के भ्रमण पर निकले। चाय की दुकानों पर हिदू और मुस्लिम दोनों चाय की चुस्की लेते रोजाना की तरह देखे गए। सड़कों कुछ ही भारी वाहन दौड़ते नजर आए। घरों के बाहर झुंड में बैठे लोग मोबाइल पर ही निर्णय की खबर लाइव सुनते दिखे। फल, मेडिकल स्टोर, चाय व नाश्ते की दुकानें पूरी तरह से खुली रहीं। फैसला आने के बाद प्रेम-सौहार्द का माहौल दिखा।

......

गुलजार रहा बाजार, बारावफात की तैयारी

अति संवेदनशील जहानाबाद कस्बे में अयोध्या फैसला आने से पहले और बाद में जनजीवन पूरी तरह से सामान्य रहा। साप्ताहिक बाजार अन्य दिनों की तरह खुला। हलांकि फैसला आने के बाद बाजार में भीड़ बढ़ गई। चौक, अमौली तिराहे पर सामान्य दिनों की अपेक्षा चहल-पहल कम थी। औरंगाबाद, बाकरगंज, लालूगंज व तालाब के पास जुलूसे मोहम्मदी की तैयारियों के लिए सजावट में लोग मशगूल दिखे।

.......

निर्णय से सबको मिला सम्मान

खागा में सुबह से ही ऐतिहासिक निर्णय को लेकर लोगों के मन में कौतूहल था। लोग घरों के अंदर टीवी पर चिपके थे। किशुनपुर रोड पर कमला बालिका इंटर कॉलेज के सामने खुली चाय-पान की दुकानों के बाहर खड़े लोगों के बीच निर्णय की चर्चा छिड़ी थी। बाजार में दुकानें रोजाना की तरह की खुली थी। एसडीएम विजयशंकर तिवारी, सीओ अंशुमान मिश्र, कोतवाली प्रभारी परशुराम भारी पुलिस फोर्स के साथ जायजा लेते रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस