जागरण संवाददाता, फतेहपुर : नई शिक्षक-शिक्षिकाओं की भर्ती का लाभ जिले के तीन ब्लाकों ने उठाया है। सालों साल से रिक्त चल रही सीटें भर्ती के तहत फुल हो गईं हैं। पर्याप्त शिक्षकों की तैनाती के बाद अब बहानेबाजी नहीं चलने पाएगी। वहीं बीईओ (खंड शिक्षाधिकारियों) ने साफ कर दिया है शैक्षिक स्तर के काम में हर शिक्षक को सफल परिणाम देने होंगे।

जिले के 2,000 रिक्त शिक्षकों के सापेक्ष 1683 शिक्षक-शिक्षिकाओं की बढ़ोत्तरी का लाभ मिला है। जिले के 13 ब्लाकों में इनकी तैनाती की गई है। मनचाहे विद्यालयों में तैनाती के लिए महिलाओं और दिव्यांगों ने स्कूल लॉक किए थे। इन ब्लाकों में मलवां, देवमई, तेलियानी के प्राथमिक स्कूल शिक्षकों की तैनाती से फुल हो गए हैं। बीएसए शिवेंद्र प्रताप ¨सह कहते हैं कि यूं तो पूरे जिले में शिक्षा के स्तर को ऊंचा करने के प्रयास होंगे लेकिन मलवां, तेलियानी और देवमई ब्लाक में विशेष जोर रहेगा। कारण कि इन ब्लाकों में शिक्षकों की पर्याप्त संख्या है। मासिक समीक्षा करके शैक्षिक स्तर मापा जाएगा। लापरवाही पाए जाने पर कड़ा दंड भी दिया जाएगा।

मलवां बीईओ को मिली प्रतिकूल प्रविष्टि

डीएम आंजनेय कुमार ¨सह ने बीते सप्ताह ब्लाक क्षेत्र का दौरा किया था। प्राथमिक स्कूलों के शैक्षिक स्तर को मापा था। शैक्षिक स्तर न्यून पाए जाने पर बीईओ मलवां अनीता शाह को जिम्मेदार मानते हुए डीएम ने प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी है। डीएम ने साफ कर दिया है कि बिना किसी सफाई के उन्हें शैक्षिक स्तर ठीक ठाक चाहिए।

Posted By: Jagran