जागरण संवाददाता, फतेहपुर : तेलियानी ब्लाक के नेवलापुर गांव के समीप 110 करोड़ की लागत से निर्मित हो रहे स्पोटर्स कालेज का काम फिर धीमा पड़ गया है। इससे नहीं लगता कि इस वित्तीय वर्ष में पूरा हो पाएगा, जबकि इसका निर्माण मार्च 2018 मे पूरा हो जाना चाहिए था। हालांकि सुस्त काम से डीएम आंजनेय ¨सह नाराज हैं और कार्यदायी संस्था पर कार्रवाई की संस्तुति शासन को कर दी है। वैसे 39 करोड़ रुपए निर्माण कंपनी के ठेकेदार को अब तक मिल चुके है।

निर्माण करा रही कांटेक्टर कंपनी को ट्रिब्यूनल कोर्ट लखनऊ के आदेश पर बकाए का 25 लाख रुपए दो माह पहले कार्यदायी संस्था निर्माण निगम ने अदा किया था। साथ ही यह शर्त थी कि मार्च 2018 तक स्पोटर्स कालेज का काम पूरा कर देगा है, लेकिन निर्माण कार्य में संसाधनों की कमी से कार्य में तेजी नहीं आ पाई है। कंपनी के निदेशक सुधाकर रेड्डी अपने वादे पर खरा नहीं उतार पाए है। हालांकि परियोजना के प्रबंधक प्रमोद कुमार, उप प्रबंधक आरएन मिश्रा ने स्पोटर्स कालेज के निर्माण की प्रगति रिपोर्ट अभियंता से तलब की, जिसमें पाया कि काम बहुत धीमा है। इसीलिए समय से निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पा रहा। स्पो‌र्ट्स कालेज का निर्माण डीएम की बैठक में भी उठ चुका है, जिसमें एडीएम को कार्य की प्रगति में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए निर्देश दिए गए है। वही ठेकेदार ने उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा है, जिसमें बजट संकट का रोना रोया है। कहा है कि बजट का एक तिहाई ही मिला है। उधर निर्माण कार्य की निगरानी कर जेई ने उच्चाधिकारियों को भेजी गई रिपोर्ट में ठेकेदार के पास संसाधनों की कमी बताई है। कार्यदायी संस्था के उप प्रबंधक का कहना था कि ठेकेदार निर्माण में हीलाहवाली कर रहा है, कार्य में शीघ्र तेजी नहीं आई तो कार्रवाई तय है।

--------------------

मामले पर एडीएम जेपी गुप्ता का कहना था कि स्पोटर्स कालेज के निर्माण में गति क्यों नहीं आई है। इसकी जांच सभी ¨बदुओं पर की जा रही है। कार्यदायी संस्था निर्माण निगम एवं निर्माण कंपनी के अधिकारियों से प्रगति रिपोर्ट मांगी गई है।

निर्माण कार्य का विवरण

अवमुक्त बजट - 110 करोड़

अब तक खर्च- 39.25 करोड़

निर्माण का क्षेत्रफल- 90 बीघे

छात्र प्रशिक्षित होंगे - 2500

Posted By: Jagran