जागरण संवाददाता, फतेहपुर : बारिश शुरू हो चुकी है तो गंगा और यमुना के जलस्तर में इजाफा शुरू हो गया है। रविवार को यमुना नदी के जलस्तर में मामूली इजाफा हुआ जबकि गंगा का जलस्तर स्थिर रहा। जिले में बाढ़ की संभावना को देखते हुए प्रशासन 95 गांवों में अलर्ट जारी किया है, जबकि बिदकी फारम और बेनीखेड़ा गांव को कटान स्थल के रूप में चिन्हित करते हुए यहां पर निगरानी लगा दी है।

मानसून की दस्तक के साथ तीन दिन से लगातार बारिश हो रही है। बांदा जनपद को जोड़ने वाले यमुना में बने पांटून पुल औगासी व दादौ का पानी बढ़ने से साथ तोड़ दिया गया है, जबकि बारा के पांटून पुल से भी यातायात संचालित हो रहा है। औगासी व दादौ में नाव के सहारे लोग नदी पार कर रहे है। यात्रियों का कहना कि दोनों जगहों में पक्के पुल निर्माण में हो रही देरी से जोखिम भरी यात्रा करनी पड़ती है। नदियों में जल स्तर की स्थिति

नदी-----गेज प्वाइंट------खतरे का निशान-----वर्तमान

गंगा----भिटौरा---------100.86 मीटर------100.46 मीटर

यमुना---ललौली--------100.00 मीटर------83.99 मीटर बाढ़ कंट्रोल रूम

05180-298632 नदियों की स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है, बाढ़ को लेकर बनी स्टेयरिंग कमेटी की बैठक कर जिम्मेदारी बांटी जा चुकी है। हर स्तर पर निगरानी की जा रही है। अभी बाढ़ की स्थिति अपने जिले में नहीं है।

अपूर्वा दुबे डीएम

Edited By: Jagran