जागरण संवाददाता, फतेहपुर : अपना जिला पिछड़े जनपदों की श्रेणी में है, जिसके नाते नीति आयोग के तय मानकों पर काम किया जा रहा है, लेकिन सुस्त काम के चलते जिले की स्थिति पर प्रभाव पड़ रहा है। बुधवार को डीएम अपूर्वा दुबे ने नीति आयोग के जिन मानकों पर काम हो रहा है, उनकी समीक्षा की। समीक्षा दौरान काम की सुस्ती पर नाराजगी जताते हुए फटकार लगाई। बैठक में प्रतिभाग न करनें पर मंडी सचिव शहर व फीडिग की सुस्ती पर डीपीएम का वेतन अग्रिम आदेश तक रोक दिया।

समीक्षा के दौरान डीएम ने विभागों के पैरामीटर्स माहवार कम पाए जाने पर पैरामीटर्स में व्यक्तिगत रुचि लेकर अच्छा प्रदर्शन करनें को कहा। कहा कि जब आप अच्छा काम करेंगे तो जनपद की रैंकिंग अपने आप ही अच्छी हो जाएगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. राजेन्द्र सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी जोगेन्द्र सिंह यादव, जिला कृषि अधिकारी ब्रजेश सिंह, जिला उद्यान अधिकारी रामसिंह यादव, जिला विद्यालय निरीक्षक महेन्द्र प्रताप सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा, एलडीएम व मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran