जागरण टीम फतेहपुर: बर्ड फ्लू को लेकर जारी सतर्कता के तहत बुधवार को खागा, बिदकी व सदर तहसील के नगरीय इलाकों में प्रशासन ने आम जनता की जागरूकता का अभियान चलाया। इस दौरान 398 दुकानों की जांच हुई और दुकानदारों को आइडी (फोटो पहचान पत्र, आधारकार्ड, या कोई ऐसा परिचय पत्र जिससे व्यक्ति की पहचान सुनिश्चित हो) देखकर मीट-मुर्गा व अंडा बेंचने का निर्देश दिया। यह भी नियम लागू किया कि अब जो भी बिक्री होगी उसके लिए हर दुकानदार बिक्री रजिस्टर बनाएगा और उसमें खरीदार का नाम फोन नंबर भी अंकित करेगा।

शहर के ज्वागांज, पीरनपुर, वर्मा तिराहा, पटेल नगर, जयराम नगर आदि क्षेत्रों में एसडीएम के निर्देश पर लेखपाल पुलिस के साथ दुकानों में घूमें और बर्ड फ्लू के खतरे बताए। टीम ने दुकान में सफाई रखने और दुकानदारों को मास्क व ग्लब्स अनिवार्य रूप से पहनने की सीख दी।उधर बिदकी में बर्ड फ्लू को लेकर एसडीएम प्रियंका व सीओ योगेंद्र सिंह मलिक ने बिदकी नगर में खजुहा चौराहा, बजरिया, बड़ा कुआं व पुरानी बिदकी में स्थित अंडा व मीट की दुकानों का निरीक्षण किया। एसडीएम ने दुकानदारों से बात करते हुए बर्ड फ्लू के बारे में उन्हें जानकारी दी। दुकानदारों को स्पष्ट कर दिया कि कोई भी दुकानदार किसी अन्य जनपद से अंडा व मीट नहीं मंगाएगा। इसके बाद जहानाबाद में भी एसडीएम ने ईओ कुलवंत सिंह के साथ सानी गड़वा, बारादरी, लालूगंज, नई बाजार में खुली मीट व अंडा की दुकानों का निरीक्षण किया। खागा कस्बे में एसडीएम प्रहलाद सिंह व सीओ अंशुमान मिश्र ने दुकानदारों को चेतावनी दी कि पक्षियों के मरने की सूचना न छिपाएं। जीटी रोड बस स्टाप, गांधी पार्क तथा नौबस्ता बाईपास चौराहे पर संचालित अंडा, मुर्गा बिक्री व चिकन शाप पर पहुंचकर जांच की। साफ-सफाई का निरीक्षण करते हुए एसडीएम ने दुकानदारों को बर्ड फ्लू से बचाव हेतु जरूरी उपायों का पालन करने के निर्देश दिए। कहा कि दुकानों के आस-पास हमेशा चूना डालकर रखें। बीमार पक्षी को तत्काल बाहर हटाकर रखें। दुकान से चिकन खरीदने वाले ग्राहकों का नाम, पता रजिस्टर में अंकित करें। इनसेट---

बचाव के लिए क्या करें

-रोगी के संपर्क में आने के बाद साबुन से हाथ अवश्य धोएं।

-खांसते या छींकते समय नैपकीन या रूमाल का प्रयो करें।

-यदि आप रोगी है तो प्रयोग हुई नैपकीन का बंद ढक्कन के बर्तन में डालें।

-पोल्ट्री फार्म उत्पादों में काम करें तो मास्क व दस्तानों का प्रयोग करें।

-किसी भी मरे पक्षी को हाथ से न छुएं, उसे गहरे गड्ढे में दफनाएं

-अच्छी तरह से पके मीट का ही सेवन करें, उसे कम से कम 50 मिनट पकाएं यह न करें

-फ्लू के रोगी के द्वारा हुई हुई किसी चीज को हाथ से न छुएं ।

-फ्लू रोगी के द्वारा प्रयोग में लाई गयी चीजों का उपयोग न करें।

-कच्चा मांस और अंडा इस समय कतई न खाएं ।

-ठंड में पक्षी मरकर सड़क भी गिर सकते हैं दया में उन्हें न छुएं

इनसेट--------

स्वास्थ्य विभाग का कंट्रोल रूम खुला

-मोबाइल नंबर- 9415045661, 9621600674 व 9450660433

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप