जागरण संवाददाता, फतेहपुर : संक्रमण की दूसरी लहर के खतरे से हर कोई भयभीत है। इसके बाद भी लापरवाही बरती जा रही है। मास्क व शारीरिक दूरी का पाठ बराबर पाठ पढ़ाने के बाद भी 30 फीसद से अधिक लोग अपनी आदतों में सुधार नहीं कर पा रहे है। बाजार से लेकर सरकारी कार्यालयों तक में नियमों की अनदेखी का जो नजारा देखने को मिला वह डराने वाला रहा। प्रदेश सरकार ने बिना मास्क के एक बार पकड़े जाने पर एक हजार व दूसरी बार पकड़े जाने पर दस हजार की भारी भरकम रकम के जुर्माना का प्राविधान किया है। शहर मुख्यालय समेत खागा व बिदकी में पुलिस ने चेकिग अभियान चलाकर बिना मास्क के निकलने वाले राहगीरों को चेताया व जुर्माना किया।

दृश्य-1

शहर के पक्का तालाब के पास दोपहर के एक बजे परचून की दुकान में खरीदारी चल रही थी। एक साथ आठ से दस ग्राहक दुकान में आ गए, लापरवाही की हद यह थी कि किसी ने भी मास्क नहीं लगा रखा था। दुकानदार खुद बिना मास्क के सामान बेच रहे थे। दृश्य-2

चौक क्षेत्र में कपड़े की मुख्य बाजार लाठी मोहाल में दुकान से पांच से छह की संख्या में ग्राहक बैठे साड़ी देख रहे हैं। दुकानदार तो मास्क लगाए हुए थे लेकिन ग्राहकों को साड़ी दिखा रहे कर्मचारी मास्क लगाना भूल गया। आने वाले ग्राहकों को कोई सजग भी नहीं कर रहा था। दृश्य-3

कोरोना के बढ़ रहे संक्रमण की डर से महानगरों से शहर आए लोग भी मास्क की अनदेखी करते मिले। रेलवे स्टेशन के बाहर एक ही परिवार के तीन से चार लोग खड़े है, कोई भी मास्क नहीं लगाए हुए था। एसपी सतपाल अंतिल ने कहा, सड़क पर हर कोई मास्क लगाकर निकले इसके लिए कई दिनों से जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। शनिवार को मास्क न लगाने पर 46 लोगों पर जुर्माना की कार्रवाई की गई है। रात आठ बजे से शुरू लॉकडाउन में सख्ती के साथ अनुपालन कराया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप