जागरण संवाददाता, फतेहपुर : गोरखपुर के चौरीचौरा से महात्मा गांधी समाधि स्थल राजघाट दिल्ली तक के लिए जा रही नागरिक सत्याग्रह पदयात्रा में शामिल आठ लोगों को कोतवाली पुलिस ने धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में नउवाबाग हाईवे से गिरफ्तार कर लिया, उस बीच गिरफ्तारी के विरोध में पहुंचे कांग्रेसी नेताओं की पुलिस से हल्की नोंकझोंक भी हुई, लेकिन पुलिस ने पदयात्रा में शामिल आठ लोगों का सीआरपीसी के तहत चालान कर कोर्ट में पेश कर दिया।

चौरीचौरा के शहीद स्मारक से गत 2 फरवरी 2020 को नागरिक सत्याग्रह पदयात्रा चौरीचौरा से शुरू हुई थी। पकड़े गए आठों लोग सैकड़ों किमी. की पदयात्रा कर शुक्रवार को शहर के भीतर नउवाबाग हाईवे पहुंचे थे, लेकिन मस्जिदों में जुमे की नमाज होने की वजह से किसी भी अनहोनी को ध्यान रखते हुए कोतवाली पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर पदयात्रा में शामिल जितेश कुमार मिश्रा निवासी दुबाल उदरहार, थाना सराय इनायत, प्रयागराज, मनीष शर्मा निवासी अशोक नगर जिला अशोक नगर प्रांत मध्यप्रदेश, राजबिद तिवारी निवासी रामकरिया थाना सिमरिया जिला पन्ना, विवेक मिश्रा निवासी सिकंदरपुर जिला बलिया, नीरज राम निवासी जमआवा थाना बरहद जिला आजमगढ़, आशुतोष कुमार राय निवासी नरही जिला बलिया, प्रभात कुमार चंद्रवर्षी निवासी कल्यानपुर थाना जमही जिला जमही प्रांत बिहार, प्रियेश पांडेय निवासी मदनपुर थाना कसिया जिला कुशीनगर को गिरफ्तार कर लिया। सूचना पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अखिलेश पांडेय के नेतृत्व में पहुंचे कार्यकर्ताओं शिवाकांत तिवारी, मोहसिन खां, गोविद तिवारी, बबलू कालिया, उदित अवस्थी ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जन विरोधी प्रदर्शन किया। शहर कोतवाल रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि सत्यागृह पदयात्रा में शामिल लोगों के समर्थन में आए लोगों को समझा बुझाकर शांत करा दिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस