जागरण संवाददाता, फतेहपुर : नगर पालिका में एनजीओ के माध्यम से काम करने वाले मजदूरों को बीते पांच माह से पगार नहीं मिली है। आर्थिक तंगी झेल रहे मजदूरों ने अधिशासी अधिकारी आवास में पहुंच कर उनसे पीड़ा दर्ज कराई लेकिन फायदा नहीं मिला है। आर्थिक संकट से जूझ रहे मजदूरों के सामने घर चलाने की समस्या खड़ी हो गई है। दूसरे दिन भी सुनवाई न होने से मजदूर खासे परेशान हैं।

नगर पालिका के जलकल विभाग में 100 नलकूप पंप आपरेटर के साथ करीब सवा सौ मजदूर काम करते हैं। इनका पालिका से कोई लेना देना नहीं है लेकिन यह काम पालिका का ही करते हैं। कारण कि इन्हें एक संस्था ने काम पर लगा रखा है। नगर पालिका संस्था को भुगतान करती है और संस्था फिर मजदूरों को भुगतान करती है। मजदूरों में शिवबरन, सुबोध, बृजलाल, ¨पटू, अभिषेक, पप्पू, धनंजय, शरद, सुशील, सुरेश यादव आदि का कहना रहा कि पांच माह से पगार नहीं मिली है। जबकि उनसे बराबर काम लिया जा रहा है। ऐसे में बच्चों के भरण पोषण की दिक्कत आ रही है। मामले में अधिशासी अधिकारी रश्मि भारती ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। मजदूरों की आपूर्ति करने वाली संस्था को बुलाया गया है।

By Jagran