जागरण संवाददाता, फतेहपुर : शहर के लोक निर्माण डाक बंगले से लेकर बुलेट चौराहे तक पालिका ने तीन करोड़ रुपये की लागत से डिवाइडर युक्त चकाचक सड़क की तोहफा दिया था। जलभराव के चलते छह माह में सड़क खराब हो गई। वहीं, किशोर न्यायालय के सामने प्लाट बने तालाब से पानी उफना कर एक पखवाड़े से भरा हुआ है। इससे तारकोल वाली सड़क गड्ढे में तब्दील हो गई है। लोगों को आवाजाही में दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं।

शहर के सिद्धपीठ तांबेश्वर के पास पानी भरने से सड़क में डाले गए तारकोल और गिट्टी के मिश्रण का पता नहीं चल पा रहा है। चकाचक सड़क में भरे पानी के बीच से बोल्डर झांक रहे हैं। वाहनों के निकलने से सड़क दिनों दिन बदहाल होती जा रही है। वहीं, दो पहिया सवार आए दिन गिर कर चोटिल हो रहे हैं। अधिशासी अधिकारी मीरा सिंह ने बताया कि जलभराव की समस्या के चलते सड़क खराब हुई है। जल निकासी के प्रबंध तलाशे जा रहे हैं। स्थिति पर एक नजर

कार्यदायी संस्था : नगर पालिका परिषद

अनुमोदित योजना : वर्ष 2019

लंबाई : डेढ़ किमी

योजना की लागत : तीन करोड़ रुपये

निर्माण कार्य पूर्ण : फरवरी 2021

खराब होने का कारण : जल निकासी के इंतजाम फेल

Edited By: Jagran