जागरण संवाददाता, फतेहपुर : बकरी बाजार को लेकर एक माह से गर्मा रही सियासत पर जिला मजिस्ट्रेट के निर्णय से विराम लग गया है। सरकार के एक राज्यमंत्री व विधायक समर्थक आमने-सामने हो जाने से बकरा बाजार का विवाद सुर्खियों पर आ गया था। 15 दिन पहले इसी को लेकर दो पक्षों में फायरिग की घटना में दो लोग घायल भी हो चुके हैं। इसी सब के बाद डीएम ने इस मामले की जांच कराई। एसपी व एसडीएम की रिपोर्ट के आधार पर निर्णय दिया कि शहर के भरहरा (नउवाबाग बाईपास) चक विसौली (रिलायंस पेट्रोल पंप के पास) व सारीपुर बेरा में साप्ताहिक बकरी बाजार लगेगी। शनिवार के दिन को लेकर विवाद की स्थित बनने पर डीएम ने शनिवार के दिन को प्रतिबंधित करते हुए तीनों संचालकों को अलग-अलग दिन तय कर दिए हैं।

शहर के बाकरगंज में 130 साल से बकरी बाजार लग रही थी। भूमिधरी जमीन पर बाजार लगवाने वाले संचालक गुलाम जाफर को अगस्त 2018 को ईओ नगरपालिका ने बस्ती के अंदर से बाजार बंद करने के निर्देश दिए। इसके बाद से यह बाजार बिना किसी प्रशासनिक अनुमति के नउवाबाग बाईपास की निजी जमीन पर लगने लगी। एक माह पहले हाईवे में जाम लगने के कारण हटाई गई तो सदर विधायक के समर्थकों की पहल पर विसौली में समानांतर मंडी लगने लगी। विवाद उस समय गहरा गया जब प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप धुन्नी सिंह ने सारीपुर बेरा में शनिवार के ही दिन नई बकरी मंडी का शुभारंभ कर दिया। मामला राजनीतिक हो जाने से पुलिस व प्रशासन चुप्पी साध ली तो स्थितियां खूनी संघर्ष में बदलने लगी। राज्यमंत्री की बाजार का जिला पंचायत से अनुमति पत्र जारी हुआ है।

यह तय की गई शर्ते

- शनिवार के दिन किसी भी स्थान में बकरी बाजार लगाना प्रतिबंधित है।

- नउवाबाग बाईपास में गुलाम जफर की बाजार सप्ताह में सोमवार को लगेगी।

- रणवेंद्र प्रताप की बाजार सारीपुर बेरा में सप्ताह में बुधवार को लगेगी।

- रिलायंस पेट्रोलपंप के पास जफर हुसैन की बाजार सप्ताह में शुक्रवार को लगेगी।

- बाजार का संचालन परिसर के अंदर ही रहेगा, ट्रैफिक व्यवस्था बाधित नहीं होगी।

- शांति व्यवस्था का उल्लंघन होने की स्थित में संचालन की अनुमति स्वत: निरस्त हो जाएगी।

................

पालिका तैयार करेगी बाइलाज

जिलाधिकारी संजीव कुमार सिंह ने नगर पालिका ईओ को निर्देशित किया है कि पालिका क्षेत्र में बाजार लगाने का बाइलाज तैयार किया जाए। बाइलाज में बाजार संचालन की शर्ते व कर निर्धारण भी तय किया जाए। कहा कि बाइलाज न होने के कारण पालिका का आर्थिक नुकसान हो रहा है। राजस्व हित को देखते हुए सभी निकाय क्षेत्रों में बाइलाज तैयार किया जाए। बाइलाज तैयार होने के बाद बकरी बाजार के संचालन के लिए पालिका से लाइसेंस जारी होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस