जागरण संवाददाता, फतेहपुर: मंगलवार को जिला अस्पताल के संविदा कर्मचारी काम-काज बंद करते हुए धरने पर बैठ गए। कर्मचारियों ने कहा कि छह माह से मानदेय नहीं दिया जा रहा, सिर्फ काम लिया जा रहा है। जब तक उन्हें मानदेय नहीं दिलाया जाएगा तब तक वह काम नहीं करेगें। कर्मचारियों ने ट्रामा सेंटर में पहुंच कर काम काज बंद करने के साथ गेट पर धरना दिया। उधर सीएमएस ने कई चरणों में इनसे बात की और बकाया दिलाने के लिए रिमाइंडर भेजने का आश्वासन दिया।

जिला अस्तपाल में महिला व पुरूष मिलाकर 25 कर्मचारी संविदा पर कार्य करते हैं, लेकिन फरवरी माह से इन्हें मानदेय नहीं दिया गया है। कर्मचारी अमित, प्रेमा, मुकेश आदि ने साथी कर्मचारियों के साथ धरने की आवाज बुलंद करते हुए कहा कि मानदेय न मिलने से उनका परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है। उधर सीएमएस डा. प्रभाकर ने बताया कि उक्त संविदा कर्मचारी सेवा प्रदाता संस्था अवनी परिधि लखनऊ से नियुक्त किए गए हैं। सरकार कर्मचारियों का मानदेय उक्त संस्था को देती है, अपने कर्मचारियों को मानदेय देना सेवा प्रदाता संस्था का काम है। इससे अस्पताल प्रशासन का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने बताया कि संस्था को वह दो बार रिमांइडर भेज चुके हैं। फिर से रिमांइडर भेजा जाएगा।

Posted By: Jagran