फतेहपुर (जेएनएन)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज फतेहपुर में दीप प्रज्जवलित कर स्वच्छता ही सेवा अभियान शुरू किया। कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत के बाद वह सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। 

उन्होंने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी को बताया कि 2 अक्टूबर 2019 तक यूपी में कोई ऐसा घर नहीं होगा जिसके परिवार में शौचालय नहीं हो। यहां बारिश के दौरान पहले बीमारियां फैल जाती थी, लेकिन अब हालात बदल रहे हैं। सेहतमंद गांवों का निर्माण हो रहा है। मैं सम्मान के साथ बता सकता हूं कि अब बीमारियों के आंकड़े 50 फीसद तक कम हो गए हैं। स्वच्छता का संबंध हमारी सेहत से जुड़ा है और हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि यूपी जल्दी ही निर्मल होगा।

वीडियो कांफ्रेसिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी को बताया कि आज से 4 साल पहले यूपी के लिए गांवों के लिए स्वच्छता एक सपना था, अधिकांश गांव गंदे थे। जब से यह मिशन शुरू हुआ है तब से 25 लाख शौचालय गांवों में बने हैं। उस समय 23 प्रतिशत कवरेज था और 2017 में इसे जन आंदोलन बनाया गया। प्रदेश में 56 हजार स्वच्छाग्री तैनात किए गए और सफाई कर्मचारियों को तैयार किया। इसके साथ ही दो लाख बीस हजार राजमिस्त्रियों को तैयार किया गया है। प्रदेश में एक करोड़ छत्तीस लाख घरों का निर्माण करवाया गया, जहां शौचालय की सुविधा है। हम एक साल में प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त कर देंगे। सीएम ने कहा कि छोटे परिवारों के लिए कार्ययोजना तैयार हो चुकी है।

सुबह और हसनापुर गांव देखकर लग रहा है जैसे कोई उत्सव हो। उनके आगमन को लेकर यहां हसनापुर गांव समेत आस-पास के मजरों में आज से ही उत्सव जैसा माहौल बन गया है। कमिश्नर आशीष गोयल और आइजी मोहित अग्रवाल की अगुवाई में कल के बाद आज भी व्यवस्थाओं की जांच भी हुई। पांच दिन की मेहनत का ही नतीजा है कि गांव शहर की तरह चमकने लगा है।

हसनापुर सानी गांव में सीएम योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर पर्व जैसी खुशियां है। इस गांव के जो परिवार शहर या दूसरे शहरों में नौकरी पेशा करते है वह छुट्टी पर घर आ गए हैं, जबकि हर घर में बांदा, हमीरपुर, रायबरेली, लखनऊ, इलाहाबाद जैसे जनपदों से रिश्तेदार आ गए है। मकसद सिर्फ एक है कि यूपी सीएम को नजदीक देखना है और सुनना है।

दूधिया रोशनी से जगमग हुआ गांव

योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर गांव की बिजली व्यवस्था ठीक करने को तीन ट्रांसफार्मर एवं 49 खंभे लगाते हुए विभाग ने साढ़े तीन किमी की नई लाइन बिछा दी है। अब गांव दूधिया रोशनी से जगमग हो गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम में स्वच्छा ग्राही, स्वच्छता अभियान के लाभार्थियों को भी यहां बुलाया गया है। इन्हें कार्यक्रम स्थल तक लाने के लिए रोडवेज ने अलग-अलग 20 बसें लगाई है। यहां पर दिव्यांग जन विकास अधिकारी ने यहां सीएम के हाथों दस लाभार्थियों को ट्राई साइकिल व दिव्यांगता सहायक उपकरण दिलाने की तैयारी की है।

पीएम की वीडियो क्रांफ्रेंसिंग

दैनिक जागरण टीम के सदस्यों ने पीएम मोदी से चर्चा की। उन्होंने बताया कि हमारे साथ पूरे देश के लोग जुडे हुए हैं। हम रोजाना अपने अखबार और वेब मीडिया माध्यम से स्वच्छता अभियान को बल दे रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप लोगों के प्रयासों से परिचित हूं। आपने अपने प्रयासों को जागरूकता तक सीमित नहीं रखा बल्कि रोजगार भी पैदा किए हैं। आपके गु्रप की तरह सभी मीडिया समूहों ने इस अभियान को सहयोग दिया है। मुझसे भी ज्यादा जुनून से लोग काम कर रहे हैं। हर अखबार हर टीवी चैनल ने अपने अपने स्तर पर साफ सफाई के प्रति जागरूकता अभियान को बल दिया है। इससे मिली प्रेरणा ने अनेक लोगों को प्रोतसाहित किया है। लोग अपने गहने और पशु धन बेचकर शौंचालय बनवा रहे हैं। बेटियों ने सत्याग्रह किए हैं। 90 साल तक की माताओं ने इस अभियान को आगे बढाया है। सारी बातें मीडिया ने उजागर की है। इस अभियान के लिए सभी मीडियाकर्मियों को बधाई देता हूं, मैंने उनके प्रति आभारी हूं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने सदगुरू को आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आपके प्रवचनों में अब भारत को स्वस्छ बनाने की बातें हो रही हैं। जाहिर सी बात है कि इससे देश में परिवर्तन आना ही था। आपने संस्कृतियों से सीखने की बात कही है जो पूरी तरह से सही है। हमें बाहर सेे कहीं सीखने की जरूरत नहीं है। स्वच्छता हमारी संस्कृति का हिस्सा रहा है। हमारी पीढियों ने इसे सहेेज कर रखा तभी तो आज हम खूबसूरत पहाड और सागर के किनारे देख पाते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता का धर्म में भी महत्व है। हम पूजा से पहले खुद को साफ करते हैं तो फिर जीवन में अपने आसपास के स्थानों को क्यों नहीं।

कश्मीर में आईटीबीबी के जवानों ने पीएम मोदी को बताया कि यहां की उंचाई 14 हजार फीट है। आईटीबीबी की सभी चौकियों ने लदाख से लेकर अरूणाचल प्रदेश तक एक एक गांव को गोद लिया है और सिपाही सुरक्षा के साथ इन गांवों को स्वच्छता का संदेश भी दे रहे हैं। गांवों में लगातार मेडिकल कैम्प आयोजित किया जा रहा है। गांवों में फ्रेंडशिप फुटबाल का आयोजन किया गया है। सौ जवानों के रहने के लिए बैरक का निर्माण किया जा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि आईटीबीवी के सभी साथियों को नमन करता हूं। आपके बारे में जो भी कहा जाए वह कम है। देश को आपकी सेना के जवानों की जहां भी जरूरत होती है आप सब हाजिर होते हैं। दुश्मनों से मोर्चा लेना हो या देश में आपदा से निकालना हो, आपने हमेशा देश को उपर रखा है। स्वच्छता अभियान को भी उपर रखा है। आपने देश को प्रेरणा दी है। लेह बहुत ही खूबसूरत जगह है। यह भी पता है कि कुछ पर्यटकों की नादानी से नुकसान भी पहुंचा है, पर आपने प्रण ने इस नुकसान की भरपाई की है। मैं कहना चाहता हूं कि दर्शनीय स्थलों के पास सफाई बनाएं रखें ताकि वे हमेशा की तरह खूबसूरत लगे।

पीएम मोदी एनजीओ के वॉलेंटियर से सीधा संवाद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत की स्वस्छता का अभियान सरकारी नहीं है यह जन जन का अभियान है। 2014 से पहले स्वस्छता का कवरेज 40 प्रतिशत था पर अब 90 प्रतिशत से ज्यादा है. यह लक्ष्य आप लोगों की मेहनत के कारण पूरा हो सका है। कोई सोच नहीं सकता था कि चार साल में 100 करोड शौचालय बन पाएंगे। चार साल में साढें चार लाख गांव खुले में शौंच से मुक्त हो सकता है। यह तो भारत भारतवासियों की, आप सब की ताकत है। इस स्तर का बदलाव केवल सरकार नहीं ला सकती। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस