जागरण संवाददाता, फतेहपुर : परीक्षाओं में बरती जा रही सख्ती से बेसिक शिक्षा में हड़कंप मच गया है। शासन द्वारा परीक्षाओं को निशाने में लिए जाने के बाद बेसिक शिक्षा में बच्चों को दोबारा पाठ्यक्रम पढ़ाया जा रहा है। शिक्षकों में कार्यवाही का खौफ व्याप्त हो गया है।

वहीं शासन ने वार्षिक परीक्षाओं का कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है। परीक्षाएं 19 से 23 मार्च के बीच जिले के 2750 प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में आयोजित की जाएंगी। शासन ने कक्षा 1 से 8 तक की वार्षिक परीक्षा 19, 20, 22 और 23 मार्च को कराने का निर्णय लिया है। चार दिनों की परीक्षा 21 मार्च को अवकाश रहेगा। कक्षा 1 में ¨हदी, गणित और अंग्रेजी की मौखिक परीक्षा का आयोजन होगा। इसके साथ ही कक्षा 2 से 8 तक की परीक्षाएं कराए जाने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने गैर जनपद से छपाई कराने का निर्णय लिया है। हर विद्यालय को जिले से ही प्रश्नपत्र उपलब्ध कराए जाएंगे। ऐसी दशा में शिक्षकों के सामने बच्चों की तैयारी ही विकल्प बनी हैं। बीएसए शिवेंद्र प्रताप ¨सह ने बताया कि प्रश्नपत्रों की खेप आनी है। इसके बाद जिले से वितरण कराया जाएगा। परीक्षा की शुचिता के लिए वह खुद और खंड शिक्षाधिकारी स्कूलों का दौरा करेंगे। परीक्षा में नकल नहीं होने दी जाएगी इसके इंतजाम किए गए हैं। प्रश्नपत्र वितरण खंड शिक्षाधिकारी के माध्यम से सूचना देकर कराया जाएगा।

By Jagran