जागरण संवाददाता, फतेहपुर: शहर के तांबेश्वर चौराहे के निकट तालाबनुमा जमीन पर मिट्टी पुराई व निर्माण का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। अब रामराज लोधी पुत्र स्व. सुद्दू, रामा देबी पत्नी स्व. रामधनी लोधी ने स्वाजातीयों के साथ मिलकर उक्त जमीन को पैतृक बताते हुए न सिर्फ अधिकार मांगा है बल्कि मौजूदा समय में काबिज लोगों पर जालसाजी के तहत जमीन हथियाने का आरोप लगाते हुए मुकदमें की मांग की।

करीब ढाई माह पूर्व तांबेश्वर के निकट इस कथित जमीन को तालाब बताते हुए केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने भी जिला प्रशासन से इसे कब्जा मुक्त कराने की बात कही थी। उस दौरान प्रशासन की जांच में उक्त जमीन का बैनामा शहर के आधा दर्जन ख्याति प्राप्त लोगों के पक्ष में पाया गया था। प्रशासन ने भी इसे भूमिधरी जमीन बताते हुए प्रकरण को निजी संपत्ति घोषित कर दिया था। अब लोधी बिरादरी के उक्त लोगों ने उक्त जमीन पर पैतृक होने का दावा करते हुए इस पर कब्जा दखल मांगा है। मामले पर एसडीएम प्रमोद झा का कहना है कि भूमिधर जमीन को दो मालिक निकल आए है। प्रकरण की जांच 1359 फसली से कराई जा रही है, सच्चाई सामने आने पर निर्णय लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस