जिला पंचायत अध्यक्ष समेत 50 को बना दिया भू-माफिया

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : तत्कालीन डीएम अपूर्वा दुबे के फर्जी हस्ताक्षर के एक वायरल आदेश ने जिले की राजनीतिक हलचल को तेज कर दिया है। आदेश में नगर के सरायमीना में हाईवे किनारे की 36 बीघे भूमि को तालाबी घोषित करते हुए क्रय व विक्रय करने वाले भाजपा नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष अभय प्रताप सिंह समेत 50 लोगों पर भू-माफिया की कार्रवाई करते हुए भूमि खाली कराने को कहा। मामला पूर्व डीएम तक पहुंचा तो उन्होंने स्पष्ट किया कि ऐसा कोई आदेश मेरे नहीं जारी किया गया है। यह आदेश पूरी तरह से फर्जी है। नवांगतुक डीएम श्रुति ने कहा, इसकी जांच होगी। फर्जी आदेश के पीछे कई प्रभावशाली लोगों के नाम आ रहे हैं।

साजिश करने वालों पर हो मुकदमा

भाजपा नेता अभय प्रताप सिंह व भूमि के साक्षीदार मलखान सिंह ने कहा साजिश करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए। फर्जी आदेश से बदनाम करने की साजिश की गई है। आदेश में जिस जमीन का जिक्र किया गया है वह भूमिधरी है। साजिशकर्ताओं के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Edited By: Jagran