जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : 68500 के तहत मार्च 2019 में भर्ती हुए 44 शिक्षकों की नियुक्तियों का सत्यापन शिक्षा विभाग मनमाने तरीके से कर रहा है। जबकि शासन ने ऑनलाइन प्रमाण पत्रों की जांच करने के आदेश दे रखे हैं, लेकिन विभागीय कर्मी मैनुअल तरीके से शिक्षकों की नियुक्तियों का सत्यापन कर रहे हैं।

शासन का आदेश है कि शिक्षकों की नियुक्तियों का सत्यापन विभागीय वेबसाइट पर अपलोड परीक्षाफल से संबंधित शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत किए गए प्रमाण पत्रों का सत्यापन करें। मार्च माह में 68500 शिक्षक भर्ती के तहत जिले में करीब 44 शिक्षकों की तैनाती की गई थी। नवनियुक्त शिक्षकों ने नियुक्ति का सत्यापन कराने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। बताते हैं कि अधिकतर शिक्षकों की नियुक्ति का सत्यापन मैनुअल तरीके से ही किया जा रहा है। नियुक्ति पत्र सत्यापन न होने से कई शिक्षकों का वेतन रुक गया है। सत्यापन कराने के लिए नवनियुक्त शिक्षक बीएसए कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। लिपिक सुरेंद्रनाथ अवस्थी ने बताया कि जिनका किसी वजह से ऑनलाइन सत्यापन नहीं हो पा रहा है। उनका मैनुअल तरीके से सत्यापन किया जा रहा है। ऑनलाइन सत्यापन वाले करीब 27 शिक्षकों से अनुबंध लेकर उनका मई माह का वेतन भी आहरित कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस