मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : अमेरिका की मि¨लडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन की नेशनल डायरेक्टर डॉ. लिज सोमवार को 18 सदस्यी टीम के साथ लोहिया महिला अस्पताल पहुंचीं। सीएमएस से प्रसव से लेकर परिवार नियोजन तक की व्यवस्थाओं की जानकारी ली। टीम ने एसएनसीयू, एनआरसी वार्ड, लेबर रूम, ओटी आदि का निरीक्षण किया।

फाउंडेशन देश में प्रजनन, मैटेरनल, नवजात शिशु स्वास्थ्य, चाइल्ड हेल्थ, किशोर किशोरी स्वास्थ्य आदि सेवाओं के लिए सरकार को बजट उपलब्ध कराती है। दिए गए बजट के उपयोग की हकीकत जानने को आई टीम में प्रोजेक्ट डायरेक्टर (लखनऊ) डॉ. जॉन एंटोनी के अलावा सदस्यों में आइएएस अधिकारी डॉ. बसंत कुमार, डॉ. विकास यादव, डॉ. ब्रंदा, डॉ. संजीव, डॉ. अर¨वद, डॉ. सीमा टंडन, डॉ. प्रीती, डॉ. जेहरा, अलीगढ़ मेडिकल यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर डॉ. रिजमा, डॉ. उजमा आदि मौजूद रहीं। लोहिया महिला अस्पताल में उन्होंने नए भवन में सीएमएस डॉ. कैलाश दुल्हानी, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. कृष्णा बोस, डॉ. नमिता दास से विगत दिसंबर में हुए प्रसव, परिवार नियोजन ऑपरेशन, बच्चों के स्वास्थ्य और दवाएं, अल्ट्रासाउंड, बायोमेडिकल वेस्ट आदि के बारे में जानकारी की। सीएमएस ने बताया कि स्टाफ की कमी के बावजूद वह सुविधाएं देने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। अगर अस्पताल को स्टाफ मिल जाए तो और बेहतर सुविधा मिल सकेंगी। समीक्षा के बाद डायरेक्टर ने एसएनसीयू, पोषण पुनर्वास केंद्र, ऑपरेशन थियेटर, लेबर रूम, ओपीडी आदि का निरीक्षण कर टीकाकरण के बारे में जानकारी की। अस्पताल में तीन घंटे रुककर टीम सीएमओ कार्यालय पहुंची। सीएमओ डॉ. अरुण कुमार ने भी उन्हें डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों की कमी की समस्या बताई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप