जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : गंगा की बाढ़ ने रविवार को तहसील सदर क्षेत्र के कई गांवों को चपेट में ले लिया। गांवों में पानी घुसने से आवागमन में मुश्किल हो रही है। सैकड़ों एकड़ भूमि जलमग्न है, जिससे फसलें नष्ट होने की कगार पर पहुंच गई हैं।

बाढ़ का पानी शहर से दो किलोमीटर दूर गांव बिलावलपुर तक आ गया है। गांव की पुलिया पर करीब ढाई फीट पानी तेज धार के साथ बह रहा है, जिससे लोग बाइकें खींचकर निकाल रहे हैं। गांव के आसपास खेत पूरी तरह जलमग्न हैं। गांव कटरी धर्मपुर, पंखियन की मढ़ैया सहित एक दर्जन गांव व मजरे पानी से पूरी तरह घिर गए हैं। गांव पृथ्वीपुर में अंदर तक बाढ़ का पानी पहुंच गया है, कटान जारी है। गांव के ही निवासी भगवान सिंह यादव ने बताया कि अधिकांश लोगों ने मवेशी सड़क पर बांध लिए हैं। गांव वीर सिंह की मढ़ैया निवासी किशनपाल ने बताया कि आवाजाही में परेशानी हो रही है। पानी यदि एक सप्ताह तक भरा रहा तो मवेशियों का चारा, जुनरी, बाजरा, तिल्ली आदि फसलें बरबाद हो जाएंगी। गांव शिकारपुर की किशोरी ऊषा साइकिल से बाजार करने शहर आ रही थी। उसने बताया कि गांव के चारों तरफ पानी है। गांव कटरी धर्मपुर निवासी गुलाम मोहम्मद ने बताया कि अभी तक प्रशासनिक अमला हालचाल लेने नहीं पहुंचा है। गांव कटरी धर्मपुर में पांच अगस्त को विवाह समारोह आयोजित है। उसके लिए ग्रामीण डीजे व जनरेटर शहर से किराए पर लेकर बैलगाड़ी से गांव पहुंचे। घायल भाई को गोद में लेकर पार कराई पुलिया

गांव पृथ्वीपुर निवासी किशोर बृजेश को सुबह बैल ने घायल कर दिया। भाई पुष्पेंद्र उसे गोद में लेकर इलाज कराने शहर लाए। पानी तो बढ़ा, लेकिन हालात नियंत्रण में

तहसीलदार राजू कुमार ने बताया कि शनिवार रात से बाढ़ का पानी बढ़ गया है, लेकिन अभी ऐसी स्थिति नहीं है कि ग्रामीण पलायन करें। वह लेखपालों के माध्यम से लोगों के संपर्क में हैं। गांव पंखियन की मढ़ैया के निकट पुलिया पर एक नाव लगाई गई है। नाव पर्याप्त मात्रा में हैं, जरूरत पड़ने पर सहायता राशि के लिए डिमांड शासन को भेजी जाएगी।

Edited By: Jagran