जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : दीपावली पर अपनों को उपहार भेंट करने की परंपरा चली आ रही है। इसको लेकर बाजार सज गए हैं। ड्राई फ्रूट से लेकर वनस्पति व देशी घी की मिठाइयां बनना शुरू हो गई है। कारखानों व दुकानों पर काम करने वाले कर्मचारियों को उपहार देने के लिए आर्डर भी दिए जा रहे हैं। बेकरियों पर ब्रांडेड आइटमों के साथ ही आकर्षक ढंग में ड्राई फ्रूट के गिफ्ट पैंकों की भरमार है।

दीपावली में महज पांच दिन रह गए हैं। धनतेरस से ही मिठाई आदि की बिक्री शुरू हो जाती है। रेलवे रोड, नेहरू रोड, किराना बाजार, घुमना बाजार, नाला मछरट्टा, सेठ गली, कोतवाली रोड फतेहगढ़ व भोलेपुर आदि बाजारों में दुकानदारों ने ड्राई फूट, ब्रांडेड चाकलेटों के साथ ही नमकीन आदि का स्टाक कर लिया है। पर्वों पर मिठाई में मिलावटखोरी के चलते लोगों की पहली पसंद डिब्बाबंद मिठाई व ब्रांडेड कंपनी की चाकलेट व नमकीन होती है। इसको लेकर दुकानदारों ने रंग-बिरंगी पैकों में बड़े ही आकर्षक ढंग से इन्हें सजाया भी है। मिठाई की दुकानों पर कारीगर मिठाई बनाने में लगे हैं। बादाम लड्डू, मोतीचूर, छुआरा मेवा व कोकोनट लड्डू के साथ ही परवल, डोंडा बर्फी, काजू कतली, छेना चमचम, राजभोग और सोहन पापड़ी आदि मिठाइयां बन रही हैं। देशी घी की मिठाई 440 से 1200 रुपये किलो है, जबकि ब्रांडेड मिठाई व चाकलेट के डिब्बे 100 से 1000 रुपये में उपलब्ध हैं। मिठाई दुकानदारों को आर्डर भी मिलने लगे हैं। कोई दुकानदार 50 किलो मिठाई पर ढाई किलो मिठाई मुफ्त दे रहा है तो कोई एक क्विंटल मिठाई बुक करने पर गिफ्ट आइटम दे रहा है। मिठाई दुकानदारों का कहना है कि करवाचौथ पर इस बार बिक्री अच्छी हुई थी, इसलिए दीपावली पर भी ज्यादा बिक्री की उम्मीद है।

Edited By: Jagran