जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : जलसा ईद मिलादुन्नबी के शहर में जगह-जगह आयोजित किए गए। जलसों में नारे तकबीर अल्लाह हो अकबर या रसूलल्लाह की सदाएं बुलंद होती रहीं।

शहर के मोहल्ला खटकपुर में आयोजित जलसे में दरगाह हुसैनिया मुजीबिया के सज्जादानशीन कारी शाह फसीह मुजीबी ने नातिया कलाम के अलावा जलसे को खिताब भी फरमाया। जलसे का आगाज तिलावते कलाम पाक से किया गया। हैबतपुर गढि़या में आयोजित जलसे में हाफिज तनवीर रजा ने कलाम पेश किया- दिलदार आए हैं शाहे अबरार आए हैं, अरे खुशियां मनाओ लोगो सरकार आए हैं। इसके अलावा कारी मोहम्मद सईद कादरी, मोहम्मद सैफ रजा, तौफीक रजा कानपुरी, मौलाना जैनुल आबेदीन नूरी, हाफिज सोहेब बरेलवी व हाफिज तस्लीम रजा ने भी कलाम पेश किए। जलसे में आफताब बरकाती मौलाना नासिर ने सीरते मुस्तफा पर रोशनी डाली। संचालन मोहम्मद हसरत बांदवी ने की। इस मौके पर सभासद रावेश मिश्रा ने जलसे में आए हुए धर्म गुरुओं का इस्तकबाल किया। इस अवसर पर गौसिया मस्जिद के मुतावल्ली, आरिफ खां, शाहरुख खां, बंटी उर्फ शाहनवाज खां, सैफ अली आदि मौजूद रहे। जलसे में काफी संख्या में ख्वातीन ने भी शिरकत की। दरगाह हुसैनिया मुजीबिया पर उर्स आज से

शहर के मोहल्ला सूफी खां स्थित दरगाह हुसैनिया मुजीबिया मे शनिवार से सालाना उर्स का आगाज सुबह कुरान ख्वानी से किया जाएगा और बाद नमाज असर झंडा नस्ब किया जाएगा।

Edited By: Jagran