जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : शहर के चर्चों में ईस्टर संडे धूमधाम से मनाया गया। चर्चों में मोमबत्ती जलाकर प्रभु मसीह की प्रार्थना कर उन्हें याद किया। सीएनआई चर्च बढ़पुर में बच्चों को बपतिस्मा (नामकरण संस्कार) भी हुए। ईसाई समाज के लोगों ने एक-दूसरे के गले मिलकर ईस्टर संडे की शुभकामनाएं दीं।

ईस्टर संडे को लेकर सीएनआई चर्च बढ़पुर, क्राइस्ट चर्च रखा समेत फतेहगढ़-फर्रुखाबाद युग्म नगरों में स्थित चर्चों को भव्यता के साथ सजाया गया था। सीएनआई चर्च बढ़पुर में पादरी जयपाल मैसी ने मोमबत्ती जलाकर प्रार्थना करते हुए विश्व कल्याण की प्रार्थना की। पादरी ने करीब चार-पांच बच्चों को बपतिस्मा भी किए। पादरी ने कहा, गुडफ्राइडे पर प्रभु यीशु मसीह को क्रूस पर लटकाने के तीसरे दिन वह जिदा हो गए थे। इसलिए ईस्टर संडे को धूमधाम से मनाया जाता है। प्रभु यीशु मसीह ने उन लोगों को भी माफ कर दिया था, जिन्होंने उन्हें कष्ट दिया था। इसलिए इस दिन लोग अपने पापों को माफ करने के लिए प्रार्थना भी की जाती है। प्रार्थना सभा के बाद ईस्टर संडे की शुभकामनाएं दी गईं। इस अवसर पर रीतेश ऑलिब, राजीव केलाल, एएस विल्किसन, सेक्रेटरी जगदीप लाल, अमित दयाल, शिल्पीराज, आराधना और रोजी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran