जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : सिटी मजिस्ट्रेट विनियमित क्षेत्र के प्रभारी होते हैं। कलेक्ट्रेट के एक भवन में अभी तक उनका कार्यालय संचालित हो रहा था। रिकार्ड रखने के लिए भवन की व्यवस्था न होने के चलते परेशानी का सामना करना पड़ता था। अब कलेक्ट्रेट में अलग से 19.92 लाख की लागत से भवन तैयार किया गया है। शनिवार को जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने भवन का शुभारंभ किया।

जिलाधिकारी ने बताया कि अभी तक सिटी मजिस्ट्रेट का कार्यालय एक समुचित स्थान पर संचालित हो रहा था। स्थान की कमी के चलते पत्रावलियों के रखरखाव की समस्या थी। भवन निर्माण के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया था। शासन से कई माह पूर्व 19.92 लाख रुपये बजट मिला था। जिससे भवन का निर्माण कराया गया। विनियमित क्षेत्र का रिकार्ड अब नियमित रूप से संरक्षित होगा। रिकार्ड को डिजिटल कराने के लिए भी व्यवस्था की जाएगी। इस दौरान अपर जिलाधिकारी विवेक श्रीवास्तव, सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार मौर्य के अलावा अन्य अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद रहे। वन स्टाप सेंटर का निरीक्षण कर देखी व्यवस्था

जिलाधिकारी ने वन स्टाप सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्था देखी। किचन में रसोइया अनुपस्थित मिलीं। वहां मौजूद कर्मचारियों ने बताया कि उनका स्वास्थ्य खराब है। इस कारण नहीं आ सकी। अन्य महिला कर्मचारियों ने भोजन तैयार किया। डीएम ने भोजन की गुणवत्ता परखी। निरीक्षण के दौरान दो पीड़ित लड़कियां मिलीं। डीएम ने उनसे जानकारी ली। वहां मौजूद कर्मचारी हिमांशी ने बताया कि लड़कियों का पता ढूंढा जा रहा है। फिलहाल अभी नारी निकेतन भेजने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि एक लड़की मूल रूप से जनपद मऊ की रहने वाली है। उसके स्वजन से संपर्क किया जा रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021