जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : अब लोहिया अस्पताल में आने वाले बुजुर्ग मरीजों को विशेष तरजीह दी जाएगी। इसके लिए उनका पर्चा भी अलग रंग का होगा। गुलाबी रंग का यह पर्चा चिकित्सक को दिखाते ही उन्हें पहले परामर्श दिया जाएगा।

जिला मुख्यालय पर स्थित डॉ. राममनोहर लोहिया जिला चिकित्सालय में जिले भर के अलावा आसपास के भी जिलों के सीमावर्ती इलाकों के मरीज आते हैं। चिकित्सकों की कमी के कारण मरीजों की लंबी कतार लगती है। ऐसे में सबसे ज्यादा परेशान बुजुर्ग मरीजों को होना पड़ता है। एक तो बूढ़ी काया और बीमारी का दंश। बुजुर्गों को लोहिया अस्पताल में इलाज हासिल करना किसी बड़ी लड़ाई को जीतने सरीके होता था। सरकारी अस्पतालों में इस समस्या को देखते हुए शासन ने सीनियर सिटीजन को शीघ्र ही स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए नया नियम लागू कर दिया। इसके तहत सरकारी अस्पतालों में सीनियर सिटीजन के लिए अलग से गुलाबी रंग के पर्चे व आम लोगों के लिए सफेद पर्चे बनाएं जाएंगे। शासन के आदेश पर लोहिया अस्पताल की ओपीडी में इस व्यवस्था को लागू कर दिया गया है। वृद्ध मरीजों को अब लाइन में नहीं लगना होगा। वह सीधे काउंटर पर आकर अपनी उम्र बताकर गुलाबी रंग का पर्चा बनवा सकते हैं। गुलाबी रंग का पर्चा देखते हुए चिकित्सक भी पहले वरीयता देकर उन्हें परामर्श देंगे। अगर उन्हें किसी प्रकार की असुविधा हो तो वह सीएमएस से शिकायत कर सकते हैं। जिस पर संबंधित स्वास्थ्य कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। सभी चिकित्सकों को सीनियर सिटीजन को वरीयता के साथ परामर्श देने के आदेश दे दिए गए हैं। गुलाबी रंग का पर्चा ही बताएगा कि मरीज सीनियर सिटीजन है। इसके बावजूद वृद्ध को वरीयता न देने की शिकायत मिली तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को पत्र लिखा जाएगा।

- डॉ. अशोक कुमार, सीएमएस।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप