जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : शहर में अतिक्रमण और जाम की समस्या के मद्देनजर अब नगर मजिस्ट्रेट अशोक मौर्य ने टेंपो चालकों पर भी लगाम कसना शुरू कर दी है। गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक के दौरान नगर मजिस्ट्रेट ने कहा कि अब शहर में केवल वैध रूप से पंजीकृत ई-रिक्शा ही चल सकेंगे। डीजल व पेट्रोल से चलने वाले सभी टेंपो शहर के बाहर विभिन्न रूटों पर चलेंगे। हर रूट के लिए अगल परमिट दिया जाएगा। टेंपो चालकों को आगामी सात जुलाई को नई व्यवस्था के संबंध में सुझाव देने का अवसर दिया गया है। शहर में जाम की समस्या से निपटने को नगर मजिस्ट्रेट अशोक मौर्य ने गुरुवार को टेंपो चालकों संग बैठक की। इस दौरान टेंपो चालकों को रूट निर्धारण की सूचना देते हुए उन्हें 7 जुलाई तक का समय दिया गया है। उन्होंने बताया कि शहर में केवल वैध रूप से परिवहन कार्यालय में पंजीकृत ई-रिक्शा चलने की अनुमति दी जाएगी। बिना चेसिस नंबर वाले ई-रिक्शा का पंजीकरण नहीं किया जाएगा। पेट्रोल व डीजल चलित टेंपो को शहर से बाहर विभिन्न रूटों पर चलने की अनुमति दी जाएगी। बैठक के दौरान टेंपो चालकों ने इस पर आपत्ति की। उन्होंने कहा कि शहर के बाहर चलने वाली निजी बसें व डग्गामार वाहन उन्हें चलने नहीं देंगे। हालांकि नगर मजिस्ट्रेट ने उनकी आशंका निराधार बाताया, लेकिन फिर भी टेंपो चालकों को सात जुलाई तक अपने सुझाव व आपत्तियां आरटीओ कार्यालय में जमा करने के निर्देश दिए। बाद में उन्होंने ई-रिक्शा चालकों से भी वार्ता की। उन्हें अपने वाहनों का पंजीकरण कराने के निर्देश दिए। बैठक में सीओ सिटी नितेश सिंह व ईओ नगर पालिका रविद्र कुमार के अलावा परिवहन विभाग के भी अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran