जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : सुरक्षित प्रसव कराने के लिए सरकार जननी सुरक्षा योजना पर करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। इसके लिए कई योजनाओं के अलावा आशा बहुओं और एएनएम आदि पर भी बजट उड़ाया जा रहा है। इसके बावजूद प्रसूताओं को उसका लाभ नहीं मिल रहा है। लापरवाही का आलम यह है कि लोहिया अस्पताल की चौखट पर प्रसव हो गया। आनन-फानन उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। गनीमत है कि जच्चा-बच्चा की हालत स्वस्थ है।

जनपद हरदोई थाना सवायजपुर क्षेत्र के गांव औहदपुर निवासी रूबी पत्नी विनोद यादव को प्रसव पीड़ा होने पर उन्हें सोमवार दोपहर को सास रामगुनी पत्नी जमादार यादव, मां रामदेवी लोहिया अस्पताल लेकर पहुंची। पुरुष अस्पताल के आपातकालीन गेट के पास महिला ने पुत्री को जन्म दे दिया। प्रसव होने पर स्वास्थ्य कर्मियों में हलचल हो गई। सूचना पर डा. अभिषेक चतुर्वेदी मौके पर आ गए। महिला स्वास्थ्य कर्मी जच्चा बच्चा को महिला अस्पताल लेकर पहुंची। यहां पर दोनों को भर्ती कर इलाज किया गया। दोनों की हालत ठीक है। परिजनों ने कहा कि वह एंबुलेंस आदि की व्यवस्था में जुटे रहे। इससे देरी हो गई।

Posted By: Jagran