संवाद सूत्र, कमालगंज : शेरपुर निवासी बालक गुरुवार को पड़ोस के गांव नगला दाऊद में एक मदरसे में सुबह करीब नौ बजे पढ़ने गया था। वापस न लौटने पर स्वजन ने खोजबीन की। कोई पता न चलने पर देर शाम पिता ने अपहरण की आशंका जताकर मामले की सूचना एसपी को दी। एसपी के आदेश पर स्वजन की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

क्षेत्र के गांव शेखपुर रूस्तमपुर निवासी मुन्ना खां का 11 वर्षीय पुत्र हारून गुरुवार सुबह करीब नौ बजे पड़ोस के नगला गांव स्थित एक मदरसे में पढ़ने गया था। जब बालक घर वापस नहीं लौटा तो पिता स्वजन के साथ उसकी खोजबीन करने के लिए विद्यालय पहुंचे। वहां पता चला कि किशोर सुबह बस्ता रखकर चला गया था उसके बाद उन्हें कोई जानकारी नहीं है। लापता किशोर के स्वजन पहले तो उसे आसपास खोजते रहे, लेकिन जब उसका कोई पता नहीं चला तो उन्होंने अपने रिश्तेदारों में फोन से सूचना कर जानकारी की। देर शाम तक जब किशोर का कोई भी पता नहीं चला तो थक हारकर स्वजन ने घटना की सूचना पुलिस अधीक्षक को दी।

एसपी के आदेश पर स्वजन की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर पुलिस किशोर की खोजबीन में जुटी। क्षेत्राधिकारी अमृतपुर अजेय शर्मा और थाना पुलिस जांच करने मौके पर पहुंची। हालांकि अभी छात्र का सुराग नहीं लग सका है। बालक के भाई मोज्जम हसन ने बताया कि हारून हसन नगला दाऊद गांव के पास स्थित मदरसा में पढ़ने गया था। मदरसा से शिक्षक ने फोन कर बताया कि हारून छुट्टी मांग रहा है। इस पर उन्होंने शिक्षक से छुट्टी देने से मना कर दिया। हारून मदरसा में बैग व साइकिल छोड़कर वहां से बगैर बताए चला गया।

कार्यवाहक थाना प्रभारी जगदीश भाटी ने बताया कि हारून का छह माह पहले ही मदरसा में दाखिला कराया गया था, लेकिन हारून पढ़ना नहीं चाहता था। वह कहता था कि उसे डर लगता है। इसलिए वह कहीं चला गया। बालक की तलाश की जा रही है। बालक के अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया है।

Edited By: Jagran