संवाद सूत्र, नवाबगंज : चकबंदी प्रक्रिया के विरोध में भाकियू की पंचायत में नेताओं ने सरकार पर भड़ास निकाली। पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन बंदोबस्त चकबंदी अधिकारी को सौंपा।

विकास खंड मोहम्मदाबाद के गांव बराकेशव, नगला खादर, नगला जब्ब, नगला उम्मेद, नगला जरौनी आदि गांवों में चल रही चकबंदी प्रक्रिया से किसानों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के जिलाध्यक्ष अरविद शाक्य के नेतृत्व में बुधवार किसान पंचायत का आयोजन किया गया। जिलाध्यक्ष ने कहा कि चकबंदी विभाग द्वारा किसानों को बिना जानकारी दिए मनमाने ढंग से चकबंदी की जा रही है। चकबंदी के नाम पर किसानों से धन उगाही हो रही है। किसान की मर्जी के बिना किसी को चकबंदी का अधिकार नहीं है। उन्होंने चकबंदी को निरस्त करने की मांग की। मंडल उपाध्यक्ष प्रभाकांत मिश्रा, मंडल सचिव अफरोज मंसूरी, छविनाथ शाक्य, सदिकारी लाल श्रीवास्तव, शीशराम झा, सुग्रीव पाल, पुतान सिंह राघव, नरेंद्र सिंह, श्यामबाबू सिंह, जगत प्रकाश, सनोज कुमार आदि ने भी विचार व्यक्त किए। इसके बाद भाकियू जिलाध्यक्ष ने बंदोबस्त चकबंदी अधिकारी डॉ. राजेश त्रिपाठी को चकबंदी प्रक्रिया निरस्त करने की मांग को लेकर जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन सौंपा। कार्यवाहक थाना प्रभारी विनोद कुमार यादव पुलिस बल के साथ मौजूद रहे। ब्लाक कार्यालय में धरना दिया

शमसाबाद : भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति के जिलाध्यक्ष सत्यभान झा व ब्लॉक अध्यक्ष ज्ञानेश कुमार राजपूत के नेतृत्व में किसान नेताओं ने ब्लॉक कार्यालय पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया।

Edited By: Jagran