संवाद सूत्र, राजेपुर (फर्रुखाबाद) : इटावा-बरेली हाईवे पर रोडवेज बस से आ रहे सराफा व्यापारी से लुटेरों ने साढ़े चार लाख रुपये की नकदी-जेवर लूट लिए। घटना को बस में सवार दो बदमाशों ने सड़क पर खड़े तीन साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया और शाहजहांपुर की ओर बाइकों से भाग गए। सूचना के काफी देर तक पुलिस नहीं पहुंची तो गुस्साए लोगों ने इटावा-बरेली हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने लाठियां भांजकर हाईवे से जाम खुलवाया।

फर्रुखाबाद शहर के मोहल्ला सेनापति निवासी राजीव वर्मा की गांव जैनापुर में बरेली हाईवे पर बालाजी ज्वैलर्स है। शनिवार शाम वह दुकान बंद कर फर्रुखाबाद जाने के लिए रोडवेज बस में चढ़े। उनके पीछे दो युवक भी बस में सवार हुए। करीब पांच किमी दूर गांव उम्मेदपुर के पास बस में बैठे एक युवक ने राजीव को तमंचा लगा दिया और दूसरे युवक ने बस चालक को तमंचा दिखाकर बस रुकवा ली। वहां रास्ते में तीन बाइक लिए बदमाश पहले से खड़े थे। तमंचा लगाए युवक ने राजीव से जेवर-नकदी भरा झोला छीन लिया। घटना के बाद बाइक सवार युवक अल्लाहगंज, शाहजहांपुर की ओर भाग गए। सर्राफ ने यूपी-100 पुलिस को घटना की सूचना दी। उधर बस में लूट की जानकारी पर जैनापुर के ग्रामीण भी पहुंच गए। पुलिस को सूचना दी गई लेकिन काफी देर तक पुलिस नहीं पहुंची तो ग्रामीण सर्राफ राजीव वर्मा को बाइक से जैनापुर बुला लाए और बरेली हाईवे पर जाम लगा दिया। सीओ सिटी मन्नीलाल गौड़ ने राजेपुर थाना प्रभारी जयंती प्रसाद के साथ जाम खुलवाने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर जाम खोलने से इन्कार किया तो पुलिस ने ग्रामीणों को लाठियां पटककर हटाया। करीब आधा घंटे बाद जाम खुल सका। पुलिस सर्राफ को थाने ले आई। उन्होंने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि झोले में एक लाख रुपये नकद व करीब 3 लाख 50 हजार रुपये के जेवरात थे। उन्होंने बताया कि लुटेरे उनके दो मोबाइल भी ले गए। सीओ ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस