मारपीट में पांच के खिलाफ एफआइआर के आदेश

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : बकरा छूट कर आरोपितों के चबूतरे पर चढ़ जाने जैसी छोटी घटना में मासूम बच्चे और उसकी मां की निर्मम पिटाई के मामले में न्यायालय ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। विवेचक को तथ्यों की जांच कर विवेचना से न्यायालय को अवगत कराने के भी आदेश दिए गए हैं।

नवाबगंज के गांव अठरुइया निवासी प्रमोद कुमार की पत्नी राधा देवी की ओर से गांव के ही रामविलास, उनकी मां शीला देवी, पत्नी मायादेवी व उनके पुत्र सुरजीत के अलावा मोरध्वज के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। राधा देवी के अनुसार उनका बकरा रस्सी छुड़ा कर अचानक आरोपितों के चबूतरे पर चढ़ गया। इससे नाराज आरोपितों ने उनके छह वर्षीय पुत्र छोटू को पीट दिया।बच्चे के रोने वह बाहर निकल का बचाने भागीं तो आरोपित उनको अंदर खींच ले गये व गला दबाकर मारने का प्रयास किया।शोर सुनकर बचाने पहुंचे उनके पति प्रमोद कुमार के साथ भी मारपीट की गई। शिकायत के बावजूद पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने पर न्यायालय की शरण ली। अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के आदेश पर मामला दर्ज किया गया।

धोखाधड़ी कर बैनाम कराने में मुकदमे के आदेश

नवाबगंज के ही गांव गुसरापुर निवासी कृष्ण मुरारी की ओर से शहर कोतवाली के सातनपुर भोपतपट्टी निवासी पूरनलाल के पुत्र ओमकार, उनके भाइयों व मां गंगा देवी के खिलाफ न्यायालय में दिए प्रार्थनापत्र में हा कि धोखाधड़ी कर उनका खेत का आरोपितों ने गंगा देवी के नाम बैनामा करा लिया।गंगा देवी की मृत्यु हो चुकी है। मामले की शिकायत पुलिस से की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। अपर मुख्य दंडाधिकारी ने थाना प्रभारी नवाबगंज को तहरीर के आधार पर आरोपितों के खिलाफ उचित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर विवेचना करने व विवेचना के परिणाम से न्यायालय को अवगत कराने के निर्देश दिए हैं।

Edited By: Jagran