फर्रुखाबाद (जेएनएन)। जिला टॉपर छात्रा के यूपी और सीबीएसई बोर्ड से एक साथ इंटरमीडिएट परीक्षा देने के मामले में छात्रा के साथ ही उसके पिता संबंधित कालेज के प्रबंधक व प्रधानाचार्य मां के खिलाफ डीआइओएस की तहरीर पर एफआइआर दर्ज की गई है। संबंधित कालेज की मान्यता समाप्त करने के लिए भी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद को पत्र भेजा गया है। टॉपर छात्रा के बारे में दैनिक जागरण में छपे समाचार पर जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिए थे। जांच के बाद मामले में अब कार्रवाई अमल में लाई गई।

जिला विद्यालय निरीक्षक कमलेश बाबू की ओर से जहानगंज थाने में दर्ज कराई गई एफआइआर के अनुसार गजेंद्र सिंह मीरा देवी बालिका इंटर कालेज हर्षनगर बहोरिकपुर की इंटरमीडिएट संस्थागत छात्रा ने यूपी बोर्ड के साथ ही सीबीएसई बोर्ड के राजपूताना पब्लिक स्कूल की संस्थागत छात्रा के रूप में भी संबंधित परीक्षा केंद्रों पर एक साथ पेपर दिए। इस मामले में गठित जांच समिति के सदस्य राजकीय इंटर कालेजों के प्रधानाचार्यों की ओर से दी गई रिपोर्ट के अनुसार छात्रा की मां मीरा देवी ही गजेंद्र सिंह मीरा देवी इंटर कालेज की प्रधानाचार्य हैं।

प्रबंधक गजेंद्र सिंह छात्रा के पिता हैं। दोनों ने उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद से मान्यता प्राप्त अपने इंटर कालेज से अनियमित रूप से अपनी पुत्री का संस्थागत छात्रा के रूप में 11वीं कक्षा का पंजीकरण कराया और वर्ष 2018 में इंटरमीडिएट की परीक्षा दिलवाई।

डीआइओएस ने पुलिस को सीबीएसइ बोर्ड के परीक्षा केंद्र आर्मी पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य की ओर से यूपी बोर्ड में जिला टॉपर छात्रा के इंटर परीक्षा में सम्मिलित होने का प्रमाण पत्र, प्रवेश पत्र, यूपी बोर्ड से 11वीं का रजिस्ट्रेशन और 12वीं की नामावली, गजेंद्र सिंह मीरा देवी इंटर कालेज का मान्यता आदेश अभिलेख भी सौंपा है। थानाध्यक्ष जहानगंज वीरपाल सिंह तोमर ने बताया कि डीआइओएस की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप