संवाद सूत्र, मोहम्मदाबाद : मानसिक रूप से परेशान युवक का शव रस्सी के सहारे लटका मिला। शव लटका देख पत्नी की चीख निकल गई। इस पर लोगों की भीड़ लग गई। पुत्रों ने बताया कि पिता मानसिक तनाव में रहते थे। उन्हें पैरालाइसिस हो गया था। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की। फारेंसिक टीम ने फोटोग्राफ लिए।

कस्बा के मोहल्ला अबंतीबाई नगर निवासी 34 वर्षीय सुधीर कुमार प्राइवेट स्कूल में शिक्षक थे। उन्हें छह माह पूर्व पैरालाइसिस हो गया था। जिससे वह परेशान रहते थे। पिता शैतान सिंह जनपद मैनपुरी थाना भोगांव के गांव देवीपुर में रहते थे। तीन माह पूर्व उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद सुधीर की मां अंगूरी देवी ने चल अचल संपत्ति की छोटे पुत्र सुमित के नाम वसीयत कर दी। इसके बाद से सुधीर परेशान रहने लगा। मंगलवार रात सुधीर खाना खाकर बरामदे में सो गया। बुधवार सुबह सुधीर की पत्नी उमा शौच के लिए उठीं तो पति को चारपाई पर न देखकर खोजबीन की। सुधीर का शव दीवार के किनारे छत में बंधी रस्सी के सहारे लटका रहा था। प्रभारी निरीक्षक दिलीप कुमार बिद मौके पर पहुंचे और वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी। सुधीर के पुत्र अंग व सोम ने बताया कि उनकी ननिहाल पड़ोस के गांव रोहिला में है। पिता एमएससी बीएड करने के बाद सुपर टेट की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान उन्हें पैरालाइसिस हो गया। रात को वह बरामदे में सोए थे। दादी ने सारी संपत्ति चाचा के नाम कर दी, जिस कारण पिता मानसिक तनाव में रहते थे। सुधीर के ससुर रोहिला निवासी न्याय सिंह की सूचना पर एसआई उदय सिंह ने शव का पंचनामा भरा।

Edited By: Jagran