जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : ब्लॉक कमालगंज के परिषदीय विद्यालयों में निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी को काफी खामियां मिलीं। लउआ नगला मानपट्टी के स्कूल में ग्रामीणों के मवेशी बंधे मिले। इसके अलावा कहीं गंदगी फैली थी तो कहीं विद्यालयों में ग्रामीणों का कब्जा था। उन्होंने प्रधानों और सचिवों को व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही कायाकल्प योजना से स्कूलों को फाइव स्टार बनाने के निर्देश दिए।

सीडीओ डॉ. राजेंद्र पैंसिया सोमवार को उच्च प्राथमिक विद्यालय भड़ौसा पहुंचे तो परिसर में जगह-जगह उन्हें गंदगी मिली। 76 में मात्र छह बच्चे उपस्थित थे। बच्चों की कापियों को शिक्षकों ने गलतियां सही किए बिना ही चेक कर दिया। बिजली फिटिग कार्य संतोषजनक नहीं मिला। खेलकूद किट में कई सामग्री थी ही नहीं। प्रधानाध्यापक फजल जमाल से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण लेने को कहा। इसी गांव के प्राथमिक विद्यालय में भी खेल सामग्री घटिया पाई गई। पेंटिग कार्य संतोषजनक नहीं मिला। विद्यालय परिसर में तीन आंगनबाड़ी केंद्र चलते मिले। जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केंद्र के भवन का चार्ज लें। प्राथमिक विद्यालय सलमापुर में कायाकल्प के तहत काम होता मिला। हैंडपंप की नाली टूटी देख ठीक कराने को कहा। सीडीओ ने प्रधान व सचिव को 6 फरवरी तक काम पूर्ण करने के निर्देश दिए। प्राथमिक विद्यालय लउआ नगला मानपट्टी में लटूरी सिंह, ब्रजेश व उमेश आदि ग्रामीण स्कूल परिसर में जानवर बांधे थे। कुछ ग्रामीणों द्वारा स्कूल के आगे खेत की ओर बाउंड्रीवाल नहीं बनने देने की शिकायत मिली। सीडीओ ने उपजिलाधिकारी को निर्देश दिए कि पैमाइश कर बाउंड्रीवाल बनवाएं। नगला रघोल, लउआ नगला मानपट्टी व प्राथमिक विद्यालय सिरौंज में भी सीडीओ को खामियां मिलीं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप