जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : कमालगंज थानाध्यक्ष की तलाश में सीबीआई और एंटी करप्शन टीम थाने पहुंची तो हलचल मच गई। विवादों में घिरे होने पर एसपी ने एसओ को चार्ज से हटा दिया।

एक पखवाड़े पूर्व कमालगंज थाना क्षेत्र में हरे पेड़ कटवाए गए थे। इसमें मोटी रकम लिए जाने की भी चर्चा हुई थी। दूसरी ओर जनपद मैनपुरी थाना दन्नाहार क्षेत्र के गांव नगला मठिया निवासी 25 वर्षीय मिथुन उर्फ नीतू कमालगंज क्षेत्र में अपनी बहन के घर आया था। यहां पर अगवा कर उसकी हत्या कर दी गई थी। 27 जुलाई को युवक का शव जनपद शाहजहांपुर थाना मिर्जापुर क्षेत्र में मिला था। युवक के पिता रक्षपाल ने गांव के महाराज सिंह उनके पुत्र मुकेश, जितेंद्र उर्फ गुड्डू आदि के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने कुछ नामजद आरोपितों को हिरासत में लिया था, लेकिन बाद में पुलिस ने निर्दोष होने का तर्क देकर आरोपितों को छोड़ दिया था। इन दोनों मामलों में शासन से भ्रष्टाचार की शिकायत की गई। मामले की जांच करने सीबीआई और एंटी करप्शन टीम दो दिन पूर्व थाने पहुंची। टीम की भनक लगते ही एसओ थाने से गायब हो गए थे। मामला जब खुलकर सामने आया तो एसपी डॉ. अनिल कुमार मिश्रा ने मंगलवार देर रात एसओ जसवंत सिंह को चार्ज से हटा दिया। टीम के आने की जानकारी नहीं है, स्वास्थ्य ठीक न होने और मानसिक रूप से तनाव में होने के चलते थानाध्यक्ष जसवंत सिंह को चार्ज से हटाया गया है।

- डॉ. अनिल मिश्रा पुलिस अधीक्षक।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस