जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : घर में घुसकर छेड़छाड़, मारपीट, तोड़फोड़ व आगजनी के आरोप में एसडीएम, तहसीलदार, थानाध्यक्ष व कई दारोगा और पुलिस कर्मियों सहित 23 लोगों के खिलाफ न्यायालय में याचिका दायर की गई। सीजेएम ने मामला दर्ज कर वादी के बयान की तिथि नियत की है।

अमृतपुर थाना क्षेत्र के गांव कुबेरपुर कुड़रा निवासी महिला ने न्यायालय में दायर याचिका में कहा कि गांव के ही रामबख्श, नंदराम, उर्मिला, निशा, सचिन, विनीता, अमृतपुर निवासी कमलेश व विमलेश ने एसडीएम बृजेंद्र कुमार, तत्कालीन एसडीएम ईशान प्रताप सिंह, तहसीलदार भानु प्रताप सिंह, लेखपाल कप्तान सिंह व थानाध्यक्ष तहसीलदार वर्मा से साठगांठ कर ली। आरोपितों ने एसडीएम न्यायालय में मामला दायर कर फर्जी आख्या लगवाई और उसका आदेश भी पारित किया गया। इसके बाद एक मार्च 2019 को सभी आरोपित दारोगा पंकज कुमार, दिलीप कुमार, सिपाही अशोक कुमार, पूजा यादव, यशवंत सिंह, नीरज कुमार, इंद्रभान सिंह, प्रवीन कुमार, शिशुपाल सिंह, होमगार्ड रामसिंह के साथ उनके घर आए और मारपीट कर दीवार तोड़ दी। विरोध करने पर छेड़छाड़ की। घटना की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों से करने की बात कहने पर घर में रखा कीमती सामान भी जला दिया। इससे करीब 12 लाख रुपये का नुकसान हो गया। इस मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजेंद्र कुमार सिंह ने न्यायालय में मामला दर्ज कर वादी के बयान की तिथि नियत कर दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस