जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : जनपद में विभिन्न स्थानों पर चल रहे कोरोना टीकाकरण बूथों का शनिवार को नोडल अधिकारियों से निरीक्षण कराया। इस दौरान कैंप से नदारद मिलीं आंगनबाड़ी महिला कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई है। जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह ने पुलिस अधीक्षक के साथ ग्राम चाचूपुर जटपुरा, जिठौली, चंदोखा, धारापुर, दहिलिया, अमृतपुर, राजपुर, सवासी आदि ग्रामों निरीक्षण कर वैक्सीनेशन कैंप का जायजा लिया।

ग्राम अमृतपुर व राजपुर में वैक्सीनेशन की स्थिति खराब पाई गई। जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित लेखपाल पंचायत सचिव को चेतावनी देते हुए शाम तक कैंप में कम से कम 300 व्यक्तियों का टीकाकरण कराने के निर्देश दिए। मोहम्मदाबाद ब्लाक के गांव पखना में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रचना चौहान, गीता देवी, मिथिलेश व ललिता देवी, अर्जुनपुर में भावना व सुषमा देवी, गदनपुर में सुमन देवी, मदायन में शशि प्रभा, खीमसेपुर में नीलम दीक्षित, किरण कुमारी, संगीता मिश्रा व कमलेश कुमारी अनुपस्थित पाई गईं। ब्लॉक नवाबगंज के गांव शिवराई मठ में कुंती देवी, विकासखंड बढ़पुर के गांव धर्मपुर कटरी में विजयलक्ष्मी, कटरी गंगपुर में उषा देवी, कुटरा में पुष्पा देवी व बुढ़नामऊ में अनीता देवी, कायमगंज ब्लॉक के गांव कुबेरपुर शिप्रा, नरायनामऊ में अनीता व धनदेवी, प्रेम नगर में संतोष कुमारी व अनिता गौतम, रुदायन में रजनी यादव, कमलाईपुर में कीर्ति व सुनीता और कुंवरपुर खास में रेखा व अनीता टीकाकरण कैंप से गायब मिलीं। जिला कार्यक्रम अधिकारी भारत प्रसाद ने बताया कि सभी के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई है। उनहोंने बताया कि शहर के मोहल्ला खड़ियाई में निरीक्षण के दौरान वैक्सीनेशन पर विलंब किए जाने पर संबंधित को चेतावनी दी गई और टीकाकरण शुरू कराया गया।

Edited By: Jagran