मोहम्मदाबाद, संवाद सूत्र : संत शांतिदूत देवकीनंदन ठाकुर महाराज ने फर्रुखाबाद एवं निकटवर्ती जनपदों में बालिकाओं के साथ हो रहे दुराचार एवं अपहरण पर ¨चता व्यक्त करते हुए शासन से तुरंत रोक लगाने की मांग की। पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं अत्यंत शर्मनाक हैं। शासन प्रशासन को महिलाओं पर अत्याचार की घटनाओं पर तुरंत अंकुश लगना चाहिए।

ग्राम सहसपुर में श्रीमद् भागवत कथा में प्रवचन करते हुए देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि भगवान, माता-पिता, साधु व ब्राह्मण को दंडवत प्रणाम करना चाहिए। इंसान को समाज में फैली बुराइयां छोड़कर अच्छाइयां ग्रहण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मनुष्य का तन आत्मा का कपड़ा है। जिस तरह पुराना कपड़ा होने पर बदला जाता है, इसी तरह तन भी बदला जाता है। सभी की मृत्यु निश्चित है। 84 लाख योनियों में से एक-एक पुण्य इकट्ठा करके मानव योनि मिली है। इस अवसर पर 'मेरे श्याम चुनरिया ओढ़े तेरे नाम की, लगन लग गयी अब तेरे नाम की' भजन पर श्रद्धालु भाव विभोर होकर झूमे।