अयोध्या : रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर और दिव्य रामनगरी के निर्माण की प्रक्रिया में रेलवे का विकास चार चांद लगा रहा है। अयोध्या रेलवे स्टेशन का कायाकल्प तो मंदिर मॉडल की ही तरह किया जा रहा है और इसमें राजस्थान के बंशी पहाड़पुर की वही सुप्रसिद्ध शिलाएं प्रयुक्त हो रही हैं, जिनसे रामजन्मभूमि पर कालजयी मंदिर का निर्माण हो रहा है। यह शिलाएं अपनी सुंदरता एवं लंबी आयु के लिए जानी जाती हैं।

बंशी पहाड़पुर की शिलाओं का प्रयोग मंदिर की तरह आकार ले रहे अयोध्या जंक्शन के मुख्य भवन की बाहरी दीवार के निर्माण में होगा। इसके लिए आठ हजार वर्ग मीटर शिलाएं मंगाई गई हैं, जो जल्दी ही यहां पहुंच जाएंगी। केंद्र सरकार की मंशा अयोध्या जंक्शन को इस ढंग से विकसित करना है कि यहां आने वाले पर्यटकों व श्रद्धालुओं को स्टेशन पर उतरते ही राममंदिर के निकट होने की अनुभूति हो सके। स्टेशन के आंतरिक प्रखंड में अंदर ग्रेनाइट का प्रयोग होगा। अयोध्या जंक्शन का पुनर्निमाण 104 करोड़ रुपये की लागत से हो रहा है। मुख्य भवन का निर्माण प्रारंभ हो चुका है।

कार्यदायी संस्था राइट्स के संयुक्त महाप्रबंधक एके जौहरी के नेतृत्व में स्टेशन को नया स्वरूप दिया जा रहा है। स्टेशन के मुख्य भवन में शिखर, मुकुट व छोटे पिरामिड मंदिर का स्वरूप निर्धारित करेंगे। फरवरी के अंतिम सप्ताह तक स्टेशन के मुख्य भवन में शिलाओं को लगाने का कार्य आरंभ होना है और 30 अक्टूबर तक मुख्य भवन तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। स्टेशन अधीक्षक एमएन मिश्र कहते हैं, कोई शक नहीं कि मंदिर की तरह बन रहा स्टेशन पूरी गरिमा के साथ रामनगरी का प्रतिनिधित्व करेगा।

--------------------

रामघाट हाल्ट को पूर्ण स्टेशन का दर्जा देने की तैयारी

रामनगरी में एक और रेलवे स्टेशन से उच्चीकृत होने को है। हाल्ट स्टेशन के रूप में स्थापित रामघाट हाल्ट को पूर्ण रेलवे स्टेशन का दर्जा देने की तैयारी चल रही है। गत दिनों सांसद लल्लू सिंह के साथ पूर्वोत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक वाणिज्य एके सिंह ने हाल्ट स्टेशन का जायजा लिया। हाल्ट स्टेशन को पूर्ण स्टेशन का दर्जा देने का प्रस्ताव सांसद ने रेलमंत्री को सौंपा था, जिसके बाद यह प्रक्रिया आरंभ हुई है। रामनगरी का रामघाट हाल्ट पर पूर्वोत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आता है। हाल्ट स्टेशन होने के बावजूद मेला व अन्य धार्मिक पर्वों के अवसर पर ट्रेन से गोंडा व पूर्वांचल की ओर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए यह स्टेशन काफी महत्वपूर्ण होता है। ऐसे में हाल्ट स्टेशन को लंबे समय से पूर्ण स्टेशन का दर्जा देने की जरूरत महसूस की जा रही थी।

------------

तैयार किया जा रहा मास्टर प्लान

सांसद के अनुसार रामघाट हाल्ट को पूर्ण स्टेशन का दर्जा दिए जाने का मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। यह प्लान तीन भागों में विभक्त होगा। यहां प्लेटफार्म बड़ा करने के साथ यात्रियों के शेड व बुजुर्गों के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी। यात्रियों के रुकने, पेयजल समेत सभी बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा।

------------------

दौड़ेगी द्रुत गति की ट्रेन, ट्रैक का किया जा रहा विद्युतीकरण

अति तीव्रगामी ट्रेन भी रामनगरी के ट्रैक से होकर गुजरेगी। इस संबंध में तैयारियां रेलवे की फाइलों से लेकर जमीन पर भी नजर आने लगी हैं। ट्रेन संचालन के लिए ट्रैक के किनारे विद्युतीकरण का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।

-----------

रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण की तैयारी

लखनऊ-वाराणसी रेल प्रखंड के अंतर्गत रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण से भी रामनगरी उच्चीकृत हो रही है। इस योजना के लिए सर्वे का कार्य अंतिम दौर में है।

Edited By: Jagran