अयोध्या, जागरण संवाददाता। राजकीय इंटर कालेज का परिसर शुक्रवार को 1356 जोड़ों के परिणय सूत्र में बंधने का साक्षी बना। श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि योगी सरकार ने पांच लाख बेटियों के विवाह का बीड़ा उठाया है। इसी क्रम में अयोध्या मंडल में 1356 पुत्रियों का विवाह कराया गया, जिसमें 1342 जोड़े हिंदू तथा 14 जोड़े मुस्लिम हैं।

श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर ने केंद्र व प्रदेश सरकार की श्रम विभाग से संचालित योजनाओं को गिनाया। कहा कि इन्हें विदा करने के साथ सुखमय जीवन के लिए 75 हजार रुपये भी श्रम विभाग दे रहा है। कहा, अपंजीकृत मजदूर या श्रमिक की काम के दौरान किसी घटना में मृत्यु पर प्रदेश सरकार एक लाख रुपये की सहायता देने जा रही है।

अध्यक्षता कर रहे श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री रघुराज सिंह ने कहा कि श्रम विभाग में श्रमिकों के लिए अनेकों कल्याणकारी योजनाएं संचालित हैं, जिसकी जानकारी संगठित व असंगठित श्रमिकों को देनी होगी। इसका प्रचार प्रसार जरूरी है। उन्होंने नव दंपतियों को आशीर्वाद प्रदान किया। सांसद लल्लू सिंह, महापौर रिषिकेश उपाध्याय, विधायक वेदप्रकाश गुप्त, रामचंद्र यादव, डा. अमित सिंह चौहान ने केंद्र व प्रदेश की संचालित योजनाओं को बारे में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में विस्तार से बताया।

विवाहित जोड़ों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। जिलाधिकारी नितीश कुमार, उप श्रमायुक्त अनुराग मिश्र, जिलाधिकारी नगर सलिल कुमार पटेल, भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव सिंह, महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र, दैनिक वेतन भोगी श्रमिक संगठन मंत्री आदित्य शुक्ल, जिपं सदस्य हरीश निषाद आदि उपस्थित रहे। समारोह में सभी जोड़ों का विवाह धार्मिक रीति रिवाज से कराया गया।

समारोह में 1114 अयोध्या, और 242 अंबेडकरनगर जिले के कुल 1356 लाभार्थी रहे। हिंदू जोड़ों का विवाह गायत्री परिवार से जुड़े लोगों ने हिंदू परंपरा और मुस्लिम जोड़ो का निकाह उनके धार्मिक परंपरा से कराया गया। 75 हजार रुपये सभी लाभार्थियों के बैंक खाते में अंतरित श्रम विभाग करेगा जिसमें से 10 हजार रुपये उनके खाते में अग्रिम रूप से अंतरित किया जा चुका है। शेष 65 हजार रुपये लाभार्थियों के खाते में विवाह के बाद अंतरित किया जाएगा।

Edited By: Vrinda Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट