फै•ाबाद : वामदलों के घटक भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्कवादी कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी माले के तत्वावधान में डीजल-पेट्रोल के दामों में लगातार वृद्धि व अन्य मुद्दों को लेकर सोमवार को तहसील सदर के सामने तिकोनिया पार्क में धरना-प्रदर्शन किया गया। नेताओं ने 11 सूत्रीय मांगपत्र नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा। नेताओं ने धरनास्थल से सिविल लाइंस स्थित गांधी पार्क तक पैदल मार्च किया, जिसमें राफेल घोटाला व सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरुद्ध नारेबाजी की गई।

धरनास्थल पर भाकपा के जिलासचिव रामतीर्थ पाठक, माकपा के जिलासचिव माताबदल, भाकपा माले के जिला प्रभारी अतीक अहमद ने यहां हुए सभा की कमान संभाली। भाकपा राज्यकमेटी सदस्य अशोक कुमार तिवारी ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार जनता की मूलभूत समस्याओं के प्रति गंभीर नहीं है और पूंजीपतियों को लाभ पहुंचा रही है। आम लोग मंहगाई व भ्रष्ट्राचार से त्रस्त हैं। जनवादी नौजवान सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यभान ¨सह जनवादी ने कहा कि भाजपा सरकार युवाओं को रोजगार देने में विफल है। सरकार की आर्थिक नीतियां जनविरोधी है, जिससे रोजगार का संकट बढ़ता जा रहा है। खेतमजदूर सभा के जिलाध्यक्ष अखिलेश चतुर्वेदी ने कहा कि इस सरकार में सबसे ज्यादा प्रभावित मजदूर और किसान है।

इप्टा के जिलाध्यक्ष अयोध्याप्रसाद तिवारी ने कहा कि भाजपा सरकार कारपोरेट जगत के करीब चार लाख करोड़ का कर्जा माफ कर सकती है, लेकिन आत्महत्या कर रहे किसानों के लिए कुछ भी करती। किसान नेता सुरेश यादव, सूर्यकांत पांडेय, इंकलाबी नौजवान सभा के उमाकांत विश्कर्मा, आफाकउल्लाह, आशीष कुमार, जनौस जिलाध्यक्ष धीरज द्विवेदी, शिवधर द्विवेदी, भानू कश्यप, सीताराम वर्मा, अमरनाथ उपाध्याय, अशोक यादव, राम¨सह, माकपा नगर महासचिव रामजी तिवारी, अनुरुद्ध मौर्य, आफताब इंकलाबी, अवधेश निषाद व हृदयराम निषाद ने संबोधित किया। धरने में प्रमुख रूप से जनौस के विश्वजीत ¨सह राजू, आशीष पांडेय, राजेश वर्मा, सुमन लता, भानमती, हरीश कुमार, मोहम्द मुजीब, विपतराम, प्रेमवती, करिया रावत, कृष्ण कुमार मौर्य, श्रीपाल शर्मा, रितिक श्रम, परमेंद्र, ओमप्रकाश यादव, पप्पू सोनकर, दीपक कुमार, जालपा ¨सह व सुभद्रा चौहान आदि शामिल हुए।

Posted By: Jagran