अयोध्या, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की सरकार इस बार दीपावली पर अयोध्या में ऐतिहासिक दीपोत्सव कराने की तैयारी में लगी हुई है। मंगलवार को तैयारियों का जायजा लेने प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी, मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी और डीजीपी ओपी सिंह पहंचेे। सुबह 10 बजे राजकीय विमान से हवाई पट्टी सर्किट हाउस पहुंचे। इसके बाद अधिकारियों के साथ बैठक कर कलेक्ट्रेट में दीपोत्सव संबंधी तैयारियों की समीक्षा की।

उसके बाद उनका काफिला राम की पैड़ी की ओर बढ़ा। यहां निरीक्षण के बाद वह राम कथा पार्क पहुंचे। दौरे के दौरान अयोध्या शोध संस्थान में संत महंतों के साथ दीपोत्सव को लेकर बातचीत भी की। हनुमानगढ़ी में पूजन-अर्चना भी की। 

4 लाख दीपों से जगमगाएगी अयोध्या 

दीपावली पर राम की नगरी अयोध्या 4 लाख दीपों से जगमगाएगी। 24 से 26 अक्टूबर तक चलने वाला दीपोत्सव कार्यक्रम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा। मुख्य कार्यक्रम 26 अक्टूबर को होगा, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे। 

 

दीपोत्सव से साकार होगी त्रेतायुगीन छवि

26 अक्टूबर को प्रस्तावित दीपोत्सव के माध्यम से त्रेतायुगीन अयोध्या की छवि साकार होगी। न केवल रामकथापार्क में बने दीपोत्सव के मुख्य मंच बल्कि नगर के अन्य 11 मंचों से रामकथा पर आधारित सांस्कृतिक संध्या सजेगी। रामकथापार्क में विदेशी कलाकार रामलीला की प्रस्तुति देंगे। प्रस्तुति देने वाली विदेशी मंडलियों में नेपाल, श्रीलंका, इंडोनेशिया, फिलीपींस के कलाकार होंगे। 

इसके साथ भरतकुंड, आईटीआई, साकेत पीजी कॉलेज, बिड़ला धर्मशाला, दशरथमहल, कनकभवन, तुलसीउद्यान, हनुमानबाग, झुनकीघाट व भजन संध्या स्थल पर कई कार्यक्रमों का आयोजन होगा। इन कार्यक्रमों में भजन, लोक गायन, नृत्य नाटिका, धोबिया लोक नृत्य, बिरहा, जादू, भोजपुरी संगीत, फरवाही लोक नृत्य, नंदराजात नृत्य, राम राज्याभिषेक नृत्य व रामलीला शामिल होगी।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस