अयोध्या : लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में भाजपा को किसानों के मुद्दे पर घेरने के लिए अखिल भारतीय किसान क्रांति सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष हार्दिक पटेल 28 दिसंबर को आएंगे। जाहिरा तौर पर कार्यक्रम उनके रात्रि विश्राम का है पर असली मकसद अयोध्या में किसान की भाजपा के बारे में नब्ज टटोलेने का है। किसान एवं नौजवान के मुद्दे पर गुजरात में भाजपा के लिए चुनौती बने हार्दिक लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश में भी इसी मुद्दों को गर्माकर भाजपा की राह में मुश्किलें खड़ा करना चाहते हैं।

किसान क्रांति सेना के मंडलीय अध्यक्ष अमृतलाल वर्मा इसे स्वीकारने से हिचकिचाते हैं, लेकिन कहते हैं कि हार्दिक पटेल के एजेंडे में किसान एवं नौजवान तो हैं ही। वह बताते हैं कि कुशीनगर जिले में आयोजित कुर्मी महासभा के सम्मेलन में 29 दिसंबर को उन्हें हिस्सा लेना है। वे 28 दिसंबर को यहीं रात्रि विश्राम करेंगे। अगले दिन अयोध्या में रामलला का दर्शन करने के बाद कुशीनगर के लिए रवाना होंगे। उनके साथ सेना के प्रदेशीय अध्यक्ष अखिलेश कटियार भी होंगे। हार्दिक के आगमन को लेकर उनके समर्थकों में उत्साह है। किसानों से मिलने का उनका कोई कार्यक्रम नहीं है। सेना के मंडलीय अध्यक्ष के सोहावल ब्लॉक स्थित डिगंबरपुर गांव में किसानों की तरफ से जरूर उनके स्वागत का कार्यक्रम है। स्वागत के बहाने हार्दिक पटेल से किसानों से मंडलीय अध्यक्ष मिलाना चाहते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस