अयोध्या : अयोध्या जंक्शन को विश्वस्तरीय रेलवे स्टेशन का स्वरूप देने के साथ ही फैजाबाद जंक्शन के भी कायाकल्प की योजना चल रही है। अयोध्या जंक्शन के पुनर्विकास का पहला चरण पांच महीने में पूरा कर लिया जाएगा। कार्यदायी संस्था को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिये गये हैं। यह जानकारी उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने दी। वह अयोध्या-फैजाबाद जंक्शन के वार्षिक निरीक्षण के लिए यहां पहुंचे थे। फैजाबाद जंक्शन पर पत्रकारों से वार्ता में जीएम ने कहाकि अयोध्या जंक्शन के प्रथम फेज का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। दूसरे चरण के कार्य की स्वीकृति के लिए पत्रावली रेलवे बोर्ड को भेज दी गई है। प्रयास है कि राममंदिर के आकार लेने के साथ अयोध्या जंक्शन का भी विकसित स्वरूप दिखने लगे। अयोध्या जंक्शन के विकास में भूमि की आवश्यकता है, जिसे उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने सहमति दे दी है। अयोध्या के साथ फैजाबाद जंक्शन के भी कायाकल्प की योजना है। ले-आउट बन कर तैयार है। जल्द ही यहां भी कार्य शुरू होगा। जीएम ने कहाकि सांसद लल्लू सिंह के प्रस्ताव पर रामघाट हाल्ट को पूर्ण स्टेशन का दर्जा देने की योजना चल रही है। हाल्ट को पूर्वोत्तर से उत्तर रेलवे के अधिकार क्षेत्र में लेने के लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा गया है। दोहरीकरण का भी कार्य चल रहा है। रामनगरी से चित्रकूट तक ट्रेन संचालन के लिए भी रेलवे प्रयास कर रहा है। इससे पूर्व जीएम ने डीआरएम संजय त्रिपाठी के साथ अयोध्या जंक्शन का भ्रमण किया तथा हनुमानगढ़ी में दर्शन-पूजन किया।

.................

स्वचालित सीढ़ी से अब नहीं हो सकेगी छेड़छाड़

अयोध्या : कुछ शरारतीतत्व स्वचालित सीढ़ी का स्विच ऑफ कर देते थे। जीएम ने बताया कि स्वचालित सीढ़ी में अब एलर्ट जारी होने का सिस्टम विकसित किया गया है। सीढ़ी का स्विच जैसे ही कोई बंद करेगा अपने आप एलर्ट जारी हो जाएगा और तत्काल अधिकारी हरकत में आ जाएंगे। जीएम ने व्यायामशाला व रनिग रूम प्रबंधन प्रणाली के नए मोबाइल ऐप का उद्घाटन किया। यह ऐप भारतीय रेल में अपने तरह का पहला सूचना तकनीक का उपयोग है। लोको पायलट और सहायक लोको पायलट ड्यूटी के दौरान इस ऐप के माध्यम से विभिन्न रनिग रूम में खाली और भरे हुए बिस्तरों की स्थिति पता कर सकते हैं। रनिग रूम पहुंचने से पहले ही अपनी पसंद का बेड इस ऐप के माध्यम से आरक्षित कर सकते हैं।

...........

कर्मचारी संगठनों ने सौंपा ज्ञापन

-उत्तरीय रेलवे मजदूर यूनियन की शाखा अध्यक्ष अंजुला सक्सेना, संरक्षक संजय सिंह, शाखा मंत्री अवधेश दुबे के नेतृत्व में जीएम को ज्ञापन सौंपा गया। रेलवे कॉलोनियों की दशा सुधारने, रेलकर्मियों एवं उनके परिवार को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने, गेटमैनों की समस्या सहित कई मांगें प्रमुखता से उठाई गईं। इस मौके पर मुकुल सक्सेना, जितेंद्र यादव आदि पदाधिकारी मौजूद रहे। नार्दन रेलवे मेंस यूनियन ने भी कर्मचारी समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

............

सांसद के साथ हुई विकास कार्यों पर चर्चा

-जीएम आशुतोष गंगल ने सांसद लल्लू सिंह के साथ विकास कार्यों पर चर्चा की। फैजाबाद रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास, रामघाट स्टेशन को पूर्ण स्टेशन का दर्जा, फैजाबाद में 26 कोच की वाशिग लाइन का निर्माण, सालारपुर में मालगोदाम का निर्माण, दोहरीकरण, विद्युतीकरण सहित अन्य मुद्दे चर्चा में शामिल रहे। जीएम ने कहाकि दिसंबर 2023 तक इस सेक्शन का दोहरीकरण कर लिया जाएगा। सांसद ने निर्देश दिया कि सभी कार्य तय सीमा के भीतर पूरा कराया जाए। सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि अयोध्या के रेलयात्रियों को विश्व स्तरीय आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने के लिए विस्तृत योजना पर सरकार कार्य कर रही है। दोहरीकरण व विद्युतीकरण का कार्य पूरा होते ही ट्रेनों की संख्या में इजाफा होगा। सांसद ने अयोध्या में सात रेलवे क्रॉसिग पर ओवरब्रिज निर्माण के लिए एक पत्र गंगल को सौंपा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप